Home Blogging Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में _ How to Create...

Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में _ How to Create Subdomain_ What is Subdomain _ 500 Subdomain _ Best Way

Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में
Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में

Subdomain kiya hai, और कैसे बनायें हिंदी में, How to Create Subdomain, What is Subdomain, subdomain kaise banaye, Subdomain create कैसे करें, Blogger Me Subdomain Use Kaise Kare, Blogspot Blog me Subdomain Kaise Add Kare, subdomain kaise banate hai, Sub Domain, Subdomain kya hai,

क्या आपने कभी अपनी Website के लिए Main Domain से Sub Domain को बनाया है? क्या आप जानते है की Sub Domain क्या है? क्या आजतक आप Domain और Sub Domain को एक ही समझते आ रहे है? अगर हाँ, तो दोस्तों आपको मै बता दूँ की ऐसा बिलकुल भी नहीं है | Sub Domain Main Domain का ही एक Part होता है लेकिन वो Main Domain Name नहीं होता है|

आपको ये जानकर हैरानी होगी की Subdomain का use Main Domain से ज्यादा किया जाता है | दोस्तों ये बिल्कुल सही है की Subdomain को Main Domain से ज्यादा इस्तेमाल करते है | कैसे किया जाता है Subdomain का Use ज्यादा वो आपको में इस Article में आगे बताऊंगा|

Subdomain आपकी Website के अलग अलग Section को Set करता और Navigate को बनाए रखता है साथ ही साथ आप अपने Main Domain से बहुत सारे Subdomain बना सकते है| Subdomain kiya hai

अगर आप अपनी Website को एक Brand बनाना चाहते है तो आपको Subdomain के बारे में जरूर जानना चाहिए और इस Article में, मै आपको Subdomain के बारे में पूरी जानकारी दूंगा |  

ये Article आपके लिए बहुत ही Useful होने वाला है तो इस Article का एक भी Point Miss मत करना तो चलिए शुरू करते है की Sub Domain क्या होता है? (Sub Domain kiya hota hai)

Sub Domain Kiya Hai (What Is Sub domain In Hindi)

जिस प्रकार Domain को “Top Level Doman”(TLD) कहा जाता है उसी प्रकार Subdomain को “Second Level Domain” (SLD) भी कहा जाता है वो इसलिए क्योकि Subdomain Main Domain से ही बना होता है जैसे आपके main Domain का नाम aatifblog.com है अब आप  english.aatifblog.com या store.aatifblog.com या service.aatifblog.com और कई प्रकार के Subdomain बना सकते है | 

क्या आप जानते है की सबसे common Subdomain नाम कौन सा है? मै आपको बताता हूँ www दुनियाभर में सबसे ज्यादा Use किया जाने वाला Common Subdomain है | इस Subdomain में Website के Home Pages और उनके Important Pages होते है| 

www Subdomain के बारे में एक और interesting बात ये है की ये Domain के रूप में भी Use किया जाता है |

इसके बारे में कुछ रोचक तथ्‍य जान लेते हैं – 

  1. WWW एक सब डोमेन है लेकिन इसे आप कभी सब डोमेन ( Subdomain )  की तरह अपनी साइट पर इस्‍तेमाल नहीं कर सकते हैं  
  2. सब डोमेन के लिये आपको कोई पैसा नहीं देना होता है 
  3. एक डोमेन के अंदर 100 Subdomains एड कर सकते हैं
  4. सब डोमेन ( Subdomain ) multiple levels का हो सकता है
  5. एक ही डोमेन के खर्चे में आप कई वेबसाइट चला सकते हैं 

आप जो Google के blogspot.com पर Blog बनाते हैं फ्री वाला जिसमें Blog के नाम के पीछे हमेशा blogspot.com लगा रहता है असल में आपको blogspot.com पर सब डोमेन ( Subdomain ) ही दिया जाता है उदाहरण के लिये हम Google को लेते हैं इसका मुख्‍य डोमेन है www.google.co.in

लेकिन google ने जब Google Map लांच किया तो इसके लिये google.co.in के सब डोमेन ( Subdomain ) का इस्‍तेमाल किया गया आप केवल https://maps.google.co.in/maps पर जाकर गूगल मैप खोल सकते हैं इस प्रकार गूगल के कई साइट गूगल के सब डोमेन ( Subdomain ) पर चल रही हैं – 

Subdomain kiya hai
Subdomain kiya hai Subdomain kiya hai
  • images.google.com
  • mail.google.com
  • news.google.com 
  • video.google.com
  • groups.google.com
  • docs.google.com
  • translate.google.com

आप देखेंगे कि इसका डोमेन गूगल ही है लेकिन सब डोमेन ( Subdomain ) अलग है और उस पर साइट भी दूसरी खुलती है

इसके अलावा कुछ लोग कई भाषाओं में वेबसाइट बनाते हैं यह साइट तो अलग-अलग होती है लेकिन उनको सबडोमेन के आपस में जोड दिया जाता है इसके उदाहरण के लिये हम wikipedia की बात करते हैं, wikipedia का मेन डोमेन www.wikipedia.org है लेकिन इस पर कई भाषाओं में आर्टीकल लिखे जाते हैं अब वो आपस में मिक्‍स न हो जायें इसलिये यहां पर भाषा के अनुसार सब डोमेन ( Subdomain ) बनाये गये हैं

Subdomain kiya hai
Subdomain kiya hai Subdomain kiya hai
  • अंग्रेजी के लिये – en.wikipedia.org
  • हिंदी के लिये – hi.wikipedia.org 

यहां wikipedia का नाम भी नहीं बदला और भाषा के हिसाब से कई वेबसाइट भी बन गई जिन्‍हें अलग-अलग मैनेज किया जा सकता है तो इस तरह आप सब डोमेन ( Subdomain ) का इस्‍तेमाल करके अपने यूजर्स को नया अनुभव दे सकते हैं  

Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में
Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में Subdomain kiya hai

Sub Domain क्यों जरुरी है? Subdomain kiya hai

जैसे की अभी आपने जाना की Subdomain क्या होता है? अब मै आपको बताता हूँ की subdomain क्यों जरुरी है? बहुत से Bloggers (Specially new Bloggers) यही सोचते है की उन्होंने Domain Purchase कर लिया तो बस इतना ही काफी है क्या आप भी Exactly यही सोचते है? हाँ,

तो आपको में बता दूँ की अपनी वेबसाइट को Brand बनाने के लिए या Google के SERPs में top पर लाने के लिए या Multi National Advertising Companies से पैसे कमाने के लिए सिर्फ Domain Purchase करना ही काफी नहीं है |

इन सबके के लिए Subdomain भी चाहिए होता है | जैसे माना की आपकी एक Branded Website है उस Website पर आप बड़ी बड़ी Companies के लिए Website create करते है या other sites बनाते  है तो आप कैसे अपनी Website पर उनके लिए new वेबसाइट बनाकर दिखाएंगे या कैसे आप अपनी Website पर उनके लिए sites बनाये? 

ऐसा नहीं हो सकता की आपने Directly पहले एक Domain उनके Website के लिए Purchase कर लिया और फिर Website Design करके दिखायी | 

आपको पहले अपने Subdomain पर उनके लिए एक Website create करनी होगी फिर Website पसंद आने के बाद approval लेकर New Domain Purchase करके Website Design करके देनी होगी | इसी प्रकार आप अपनी Website में बहुत से Subdomain जैसे Food, Fashion, News etc. बना सकते है |

सबसे बढ़िया example Wikipedia है. Wikipedia का main domain तो wikipedia.org है लेकिन वे अलग-अलग भाषाओँ के readers के हिसाब से अलग-अलग subdomains पर content डालते हैं. जैसे की en.wikipedia.org, English content के लिए, hi.wikipedia.org, हिंदी content के लिए इत्यादि. तो ऐसे में subdomains बहुत useful होते है. Subdomain kiya hai

Sub Domain कैसे बनाये?

चलिए ये तो आपने जान लिया की Sub Domain क्या होता है और ये क्यों जरुरी है? अब समझते है की Sub Domain कैसे बनाते है? अगर आपको पता है की Subdomain कैसे बनाते है|

तो subdomain बनाना ज्यादा मुश्किल नहीं होता है और अगर नहीं पता तो कोई बात नहीं मै आपको बताता हूँ की Sub Domain कैसे बनाये? (subdomain kaise banaye)
“Domain Register” या “WordPress hosting” Account में आप आसानी से Subdomain बना सकते है |

यहाँ मै आपको cPanel पर Subdomain Create करना बताऊंगा लेकिन ये प्रकिया all Platforms पर लगभग एक जैसी ही है |

Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में
Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में Subdomain kiya hai

Subdomain को create करने के लिए आपको पहले इसके Homepage पर आना होगा | Curser को थोड़ा scroll करने पर आपको वहाँ एक Subdomains का option दिखाई देगा उस पर click करना है फिर वहाँ  आपको Create a Subdomain दिखायी देगा |

Create a Subdomain के नीचे आपको Subdomain, Domain और Domain Root नजर आएगा | Subdomain में आपको वो नाम रखना होता है जो आप Publish करना चाहते हो | Domain में already आपका Main Domain का नाम होता है जैसे aatifblog.com |

Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में
Subdomain kiya hai और कैसे बनायें हिंदी में Subdomain kiya hai

जब आप अपने Subdomain नाम को Domain Root(HTML) के साथ Publish करते हैं तो immediately आप का Subdomain ready हो जाता है | 

ब्लॉगर में Subdomain इस्तेमाल कैसे करे? ब्लॉगर ब्लॉग में subdomain add करने की जानकारी

  1. सबसे पहले आपको Blogger पर जाये वह पर आपको Sign In करके DashBoard में जाना है(ध्यान रहे की आपको उसी Gmail ID से Log In करना है जिस Gmail ID पे आपका वो Custom Domain वाला साइट है…जिस Custom Domain के लिए आप Sub domain बनाना चाहते है)
  2. अब आपको वह पर एक नया Blog बनाना है.. Blogger पर नया Blog कैसे बनाते है उसकी जानकारी हमने पहले दे रखी है. (हम उस नए बनाये गए Blog में अपना SubDomain Add करेंगे अगर आप अपने किसी पुराने Blog पे SubDomain लगाना चाहते है तो आप इस Step को ना करे)
  3. अब आपको Settings>>Basic में जाना है और वह पर आपको Setup A Third Party URL पर Click करना है.
  4. अब आपको एक New Tab Open करना है वह पर आपको अपने Domain Registrar की Site पर जाना है. अगर आपने Nameserver Change करके Cloudflare पर Migrate हुए है तो आप वहा पर जाये ।
  5. अब आपको यहाँ पर एक Cname Record Add करना है. अब आप यहाँ पर Name, Label और Host Field में अपने Sub Domain का Text Domain लिखे जैसे की अगर आप Test.Example.Com Subdomain बनाना चाहते है उस Field में आप Test लिखे. और आपको Destination, Target Or Point Field में ghs.google.com लिखना है. और फिर Save कर देना है ।
  6. अब आपको फिर अपने पुराने Tab पर आना है वह पर आपको Setup a third Party URL पर Click करना है. और आपको वहाँ पर अपना Sub domain डालना है.. जैसे की Test.Example.Com और Save पर CLick कर देना हैं
  7. ऐसा करते ही आपका SubDomain Add हो जाएगा.. अब आप अपने Sub domain को URL Box में Type करके देखेंगे तो आपका Sub domain Successfully Work करेगा । Subdomain kiya hai

सबडोमेन के फायदे (Advantage of Subdomain in Hindi)

Subdomain बनाने के आपको बहुत सारे फायदे मिलते हैं जो निम्न प्रकार से हैं –

  • अगर आपके Main Domain पर बनी वेबसाइट पहले से एक Brand है तो आप सबडोमेन पर जो वेबसाइट बनायेंगे उस पर भी यूजर का Trust रहेगा.
  • आप बिना नया डोमेन लिए सबडोमेन से अपनी एक नयी Fresh वेबसाइट/ ब्लॉग बना सकते हैं. और किसी भी Topic पर Blogging कर सकते हैं.
  • आप सबडोमेन पर जो वेबसाइट Create करते हो उसका आपके Main Domain पर बनी वेबसाइट से कोई Connection नहीं होता है. वह बिलकुल Separate होती है.
  • अगर आपके Main Domain में पहले से AdSense Approve है तो आपको अपने सबडोमेन में AdSense का Approval नहीं लेना पड़ेगा. आप Subdomain में AdSense Approval लिए बिना भी Ad Show करवा सकते हैं.

तो यह थे Subdomain के कुछ फायदे, Subdomain kiya hai

FAQ’s: Subdomain kiya hai

बहुत से Bloggers को अभी भी Subdomain को लेकर कुछ Confusion हैं| मै इन Questions Answer के जरिये उनका Confusion दूर करने की कोशिश करूँगा |

  • क्या WWW एक sub domain है?

    काफी Bloggers को लगता है की WWW एक Domain है लेकिन आपको मै बता दूँ की ऐसा बिलकुल भी नहीं है | WWW एक Subdomain है जो World Wide Web के लिए इस्तेमाल किया जाता है | WWW बहुत ही common subdomain है इसलिए बहुत से Bloggers इसे Domain समझ लेते है |

    क्या अपने कभी अपने Domain Name System (DNS) की setting में कोई बात Notice की है? मै आपको बताता हूँ वहाँ पर आपको अक्सर कुछ इस प्रकार का देखने को मिलता होगा www.aatifblog.com उसमे आपका aatifblog.com Domain होता है और www Subdomain होता है |

    आपको अपनी Saprate Website का SEO Exactly उसी प्रकार करना होता है जैसे आप अपनी Main Website का SEO करते है |

  • एक website में लगभग कितने sub domains को जोड़ सकते हैं?

    वैसे तो एक Website में कितने भी Subdomain जोड़ सकते है लेकिन ध्यान रहे की उनकी भी एक limit होती है | आप एक वेबसाइट में 500 से ज्यादा Subdomain नहीं जोड़ सकते है | Subdomain बनाने का मतलब होता है की एक बिल्कुल new Sub Website बनाना और SEO के Point of View से  New Website में भी आपको Main Website की तरह ही पूरा Focus करना होता है |

  • क्या सबडोमेन पर एक नयी वेबसाइट बना सकते हैं?

    जी हाँ, subdomain पर हम एक नयी वेबसाइट बना सकते हैं जो कि बिल्कुल Separate होती है. सबडोमेन पर बनी वेबसाइट पर भी हमें अपने Main Domain पर बनी वेबसाइट की तरह ही काम करना होता है.

  • क्या ब्लॉगर पर भी सबडोमेन से नयी वेबसाइट बना सकते हैं?

    जी बिल्कुल आप सबडोमेन को अपने Blogger पर भी Connect कर सकते हैं और एक नयी Website बना सकते हैं.

यह भी पढ़े

आपने क्या सीखा: Subdomain Kya Hai

इस लेख के माध्यम से मैंने आपको बताया कि Subdomain Kya Hai, सबडोमेन के फायदे क्या है और आप कैसे सबडोमेन बना सकते हो. यह सारी जानकारी आपको इस लेख को पढने के बाद मिल गयी होगी.

अगर आप भी बिना डोमेन नाम लिए अपनी एक नयी और Separate वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आप भी सबडोमेन का इस्तेमाल कर सकते हैं.

उम्मीद करते हैं आपको मेरे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया पर भी जरुर शेयर करें और अन्य लोगों तक भी सही जानकरी पहुचाएं. धन्यवाद|

लेटेस्ट न्यूज अपडेट,  गैजेट्स रिव्यु, और एक्सक्लूसिव कंटेंट के लिए आप हमको Google NewsYouTubeFacebookInstagram और Twitter पर फॉलो करें।

आशा करता हूँ आपको Subdomain kiya hai ये लेख पसंद आया होगा. तो इसे अपने फेसबुक , गूगल और ट्विटर अकाउंट में जरूर शेयर करें.अगर आपके मन मे कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट में जरूर लिखें। Subdomain kiya hai

No comments

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here