Koo app review in Hindi | Koo App Hacked | Dont’ Use 1 Mistake

Koo app review in Hindi
Koo app review in Hindi

Koo app review in Hindi | Koo app Hacked

Hello हेल्लो दोस्तों कैसे है आप लोग ? (www.aatifblog.com) में आपका स्वागत है | आज आप सभी को बेहतरीन एप्लीकेशन के बारे में बताऊंगा | जो की अब Twitter को भी टक्कर देने के लिए Internet पर आ गया है | ठीक उसी तरह जैसे Tiktok को Mx Takatak और Moj App जैसे Short विडियो ऐप टक्कर दे रहे है | इसलिए Koo app review in Hindi India के लिए ही बनाया गया है |

आइये Koo App के बारे में सारी जानकारी जान लेते है | Koo app review in Hindi क्या है? कैसे काम करता है? और यह किस देश का है? Koo App Founder या Owner या मालिक कौन है? Koo App Features? Koo App Download कैसे करें? Koo App PC Download website? Koo App कैसे काम करता है? Koo App कैसे Use करे? Koo app review in Hindi | Koo App Hacked | Don’t Use  Koo App Wikipedia? ये सब आपको इस पोस्ट में जानने के लिए मिलेगा | Koo app review in Hindi

Koo app review in Hindi
Koo app review in Hindi

भारत में हाल ही में कई चीनी ऐप्स जैसे TikTok, PUBG Mobile और SheIn को बैन  किया गया है. इसने कई भारतीय ऐप डेवलपर्स को आगे आने और विदेशी ऐप्स के विकल्प बनाने के लिए प्रोत्साहित किया है. इसी कड़ी में आत्मनिर्भर भारत की ओर कदम बढ़ाते हुए अप्रमेय राधाकृष्ण और उनकी टीम Koo ऐप को पेश किया Koo ऐप को Twitter का देसी वर्जन कहा जा रहा है।

यह भी पढ़ें: What is web hosting in Hindi & types of web hosting

इसे केंद्रीय मंत्रियों की तरफ से आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत Twitter की टक्कर में प्रमोट किया गया है। लेकिन अब Koo ऐप में चाइनीज फंडिंग का कनेक्शन निकलकर सामने आया है। दरअसल Robert Baptiste ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर Koo ऐप के चीनी कनेक्शन का खुलासा किया। रॉबर्ट की मानें तो Koo ऐप में Shunwei Capital का निवेश है। हालांकि, यह निवेश काफी कम है। Shunwei, शाओमी के साथ कनेक्टेड एक वेंचर कैपिटल है। यह वेंचर कैपिटल स्टार्टअप में निवेश करता है। Koo ऐप पिछले साल भारत सरकार के आत्मनिर्भर भारत ऐप चैलेंज का विजेता रहा था। Koo app review in Hindi

Koo के फाउंडर ने दी सफाई 

Koo ऐप के को-फाउंडर और सीईओ अप्रमेय राधाकृष्णा हैं। इन्होंने अपने ट्विटर हैंडल (@aprameya) से ट्वीट कर बताया कि Shunwei Capital का निवेश काफी कम है। इस निवेश को जल्द खत्म किया जाएगा और Koo ऐप पूरी तरह से आत्मनिर्भर हो जाएगा। उन्होंने बताया कि Koo एक इंडियन रजिस्टर्ड कंपनी है, जिसके फाउंडर इंडियन हैं। इस कंपनी में करीब 2.5 साल पहले निवेश किया गया था। इसमें Shunwei Capital का निवेश सिंगल डिजिट में है। मौजूदा वक्त Koo ऐप की लीडिंग इन्वेस्टर कंपनी पूरी तरह से घरेलू है। 

Koo से जानकारी लीक की खबर 

फ्रेंच सिक्योरिटी रिसर्चर रॉबर्ट बैपटिस्ट ने दावा किया कि Koo ऐप का इस्तेमाल सुरक्षित नहीं है। ऐप यूजर्स की ई-मेल आईडी, फोन नंबर और डेट ऑफ बर्थ (जन्मतिथि) जैसी जानकारी लीक कर रहा है। रॉबर्ट बैपटिस्ट ट्वीटर हैंडल पर एलियट एंडरसन के नाम से फेमस हैं। वहीं, Koo ऐप के फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्णा का कहना है कि डेटा लीक की खबर गैरजरूरी हैं। राधाकृष्णा के मुताबिक यूजर की प्रोफाइल पर नजर आने वाली जानकारी को डेटा लीक कैसे कहा जा सकता है। उन्होंने बताया कि मेल आईडी डालना जरूरी नहीं है। Koo को 95 फीसदी लोगों ने अपने मोबाइल नंबर से login किया है। Email लॉग-इन को हाल ही में एड किया गया है। 

Koo ऐप का भारत में बढ़ रहा क्रेज 

बता दें कि पिछले दो दिनों में Koo के डाउनलोडिंग में 10 गुना की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। ऐसे में मात्र दो दिनों में Koo ऐप को 3 मिलियन (करीब 30 लाख) से ज्यादा बार डाउनलोड किया गया है। पिछले 48 घंटों में Koo ऐप पर सबसे ज्यादा संख्या में साइन-अप किया गया है। Koo ऐप को पिछले साल 2019 के मार्च माह में लॉन्च किया गया था। Koo ऐप वर्तमान में भारतीय भाषाओं हिंदी, तेलुगु, बंगाली, तमिल, मलयालम, गुजराती, पंजाबी, उडिया और असमी को सपोर्ट करता है।

यह भी पढ़ें: AIRTEL ने पेश किया देश का पहला 5G READY NETWORK

क्या है Koo?

जैसा कि हमने ऊपर बताया इसे ट्वविटर के इंडियन अल्टरनेटिव के तौर पर देखा जा रहा है. इस इंडियन माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट को अप्रमेय राधाकृष्ण और मयंक बिदावतका ने पिछले साल मार्च में डेवलप किया था. ट्विटर की ही तरह कू भी एक माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है, जहां आप अलग-अलग मुद्दों पर अपने व्यूज और ओपिनियन दे सकते हैं. इसने अगस्त 2020 में भारत सरकार द्वारा आयोजित AatmaNirbhar ऐप इनोवेशन चैलेंज को भी जीता था.

सबसे खास बात ये है कि इस ऐप में कई भारतीय भाषाओं का भी सपोर्ट दिया गया है. फिलहाल कू में तेलुगु, कन्नड़, बंगाली, तमिल, मलयालम, गुजराती, मराठी, पंजाबी, ओड़िया और आसामी का सपोर्ट मौजूद है. 

क्या कर सकते हैं?

Koo ऐप में यूजर्स प्लेटफॉर्म पर पोस्ट, वीडियो और फोटेज शेयर कर सकते हैं. ट्विटर की ही तरह Koo पर भी यूजर्स एक दूसरे से DMs के जरिए चैट कर सकते हैं. साथ ही इस माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट पर यूजर्स पोल्स भी कंडक्ट कर सकते हैं.

ऐसे करें डाउनलोड:

Koo App के डाउनलोड की संख्या लगातार बढ़ रही है। भारत सरकार और माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर के बीच चल रही तनातनी का लाभ इस भारतीय मोबाइल ऐप को मिल रहा है। सरकार और Twitter के बीच विवाद कुछ यूजर्स के अकाउंट को ब्लॉक करने और उन पर कार्रवाई करने को लेकर हुआ है। Koo ऐप गूगल प्ले स्टोर और ऐपल ऐप स्टोर पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध है. यानी यूजर्स इसे iPhone और एंड्रॉयड फोन्स दोनों में ही डाउनलोड कर सकते हैं. गूगल प्ले स्टोर पर इसके 1 मिलियन से भी ज्यादा डाउनलोड हो चुके हैं.

यह भी पढ़ें: iPhone 12 Pro Max vs Samsung Galaxy S21 Ultra In Hindi (which best )

इस हफ्ते की शुरुआत से ही यह ऐप चर्चा में बना हुआ है। ऐप पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, रविशंकर प्रसाद समेत कई अन्य आ चुके हैं। यहां तक की प्लेटफॉर्म पर कई सरकार विभागों के अकाउंट भी मौजूद हैं। इस ऐप में चीनी निवेश भी है, जिसकी जानकारी कंपनी के फाउंडर राधाकृष्ण ने एक इंटरव्यू में दी है।

क्यों है ट्विटर और सरकार में तनातनी

गौरतलब है कि सरकार ने किसान आंदोलन के बारे में दुष्प्रचार और भड़काऊ बातें फैला रहे एकाउंट और हैशटैग के खिलाफ कार्रवाई करने में देरी करने पर बुधवार को ट्विटर से नाराजगी जाहिर की है। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि कंपनी के अपने भले ही कोई नियम हों, लेकिन उसे देश के कानूनों का पालन करना ही चाहिए।

ट्विटर ने 500 से अधिक एकाउंट निलंबित किये हैं। हालांकि, उसने अभिव्यक्ति की आजादी का हवाला देते हुए ‘खबरिया निकायों, पत्रकारों, कार्यकर्ताओं एवं नेताओं के एकाउंट पर रोक लगाने से इनकार किया है।’ आईटी सचिव और ट्विटर के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच डिजिटल संवाद के दौरान सरकार ने इस मंच से कहा कि भारत में काम कर रहे कारोबारी निकाय के रूप में उसे कानूनों एवं लोकतांत्रिक संस्थानों का सम्मान करना ही चाहिए और देश में सद्भाव बिगाड़ने और अशांति फैलाने से जुड़े अभियानों पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

How To Use Koo App?

Koo App में Login करने के बाद आपको सीधा प्रोफाइल में अपना Details भरना होता है | उसके बाद आपको कोई पोस्ट करना है तो आप इसे कर सकते है |

आपको +Koo पर क्लिक करे |

उसके बाद “What’s On Your Mind” दिखेगा |

फिर #Hashtag और @ दिखेगा |

उसके बाद Keyboard , Mic और Video का आप्शन दिखेगा | वहां से आप अपने Text Message , Audio और विडियो भी शेयर कर सकते है | और Hashtag और Friends को Mention कर सकते है |

कू ऐप के फीचर्स क्या है? कू ऐप का फीचर्स: –

  1. इसमें आप इंडिया न्यूज़ पर अपनी राय साझा कर सकते हैं।
  2. भारतीय समाचार पत्र और चैनल द्वारा पोस्ट की गई ट्रेंडिंग भारतीय समाचार यहां से देखें।
  3. आप विभिन्न भारतीय भाषाओं में कुछ भी चर्चा कर सकते हैं।
  4. भारतीय समाचार रिपोर्टर्स, पत्रकारों, राजनेताओं, क्रिकेटरों, अभिनेताओं, कार्यकर्ताओं और अन्य दिलचस्प लोगों का अनुसरण करें
  5. YouTube के न्यूज़ चैनल ट्रेनिंग चैनल की खोज यहाँ की गई है।
  6. कू ऐप ट्विटर के विकल्प की तरह है।
  7. इसमें आप ट्रेंडिंग # हैशटैग का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  8. आप अपने Followers के साथ पाठ / वीडियो / ऑडियो या तीनों में से किसी के संयोजन को साझा कर सकते हैं।
  9. कू ऐप अलग-अलग भाषा में उपलब्ध है। -हिंदी, कन्नड़, तमिल, तेलुगु, मराठी, बंगला, गुजराती, मलयालम, पंजाबी, उड़िया, असमिया |

डाउनलोड करने के बाद, Koo App को लॉगिन करने के लिए पहले भाषा का चयन करना होगा। इसके बाद आपको मोबाइल नंबर डालना होगा, ओटीपी आएगा, फिर कन्फर्म हो जाएगा। उसके बाद आपको Koo App में लॉग इन किया जाएगा।

यदि आप इसे Pc में उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको इसे Pc में डाउनलोड करने की आवश्यकता नहीं है, यह अब इंटरनेट पर Koo App वेबसाइट पर उपलब्ध हो गया है।

आप ट्विटर की तरह कू ऐप वेबसाइट को भी खोल सकते हैं। और आप लॉगिन करके इसका उपयोग कर सकते हैं

Koo App ट्विटर की तरह ही काम करता है, और आप #Hashtag, Trending Topic, News आदि पर ध्यान देकर ट्विटर जैसे लोगों को भी शेयर कर सकते हैं। और न्यूज़ इंडिया से जुड़ी सभी खबरें लोगों तक जल्दी पहुँच सकती हैं।

और इसमें राजनीति, व्यवसाय, फिल्मों और अन्य घटनाओं से संबंधित जानकारी उपलब्ध है। और विभिन्न प्रकार के पेशेवर लोग जुड़े हुए हैं।

कू ऐप में लॉग इन करने के बाद, आपको अपना विवरण सीधे प्रोफाइल में भरना होगा। उसके बाद अगर आप कुछ पोस्ट करना चाहते हैं, तो आप कर सकते हैं।

आपको + कू पर क्लिक करना है।

उसके बाद ‘ऑन योर माइंड’ में नजर आएंगे।

फिर # हैशटैग और @ दिखाई देगा।

उसके बाद, कीबोर्ड, माइक और वीडियो का विकल्प दिखाई देगा। वहां से आप अपना टेक्स्ट मैसेज, ऑडियो और वीडियो भी शेयर कर सकते हैं। और आप हैशटैग और फ्रेंड्स पर ध्यान दे सकते हैं।

तो दोस्तों यह थी Koo App से जुडी बिशेष जानकारी कि Koo App Kya Hai – Koo App Review Hindi जो आपको अवश्य पसंद आयी होगी। 

Previous articleiPhone 12 Pro Max vs Samsung Galaxy S21 Ultra In Hindi (which best )
Next articleBoat Rockerz 255 Pro Plus vs Boat Rockerz 335 In Hindi | Which is Best
Mohd Aatif is the Author & Co-Founder of the aatifblog.com. He has also completed his graduation in Computer Engineering from Kanpur(UP) . He is passionate about Blogging & Digital Marketing.

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here