आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 | Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022 | डाउनलोड करे, Ayushman Bharat Arogya Card Best

Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022
Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022

जन आरोग्य गोल्डन कार्ड ऑनलाइन | Ayushman Bharat Arogya Card | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड डाउनलोड | PM Ayushman Bharat Golden Card Online Download 2022

Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022 Ayushman Bharat Arogya एक ऐसा कार्ड है जिसकी सहायता से देश का कोई भी व्यक्ति आयुष्मान भारत योजना में चुने गए सरकारी और निजी हॉस्पिटलों में अपना 5 लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज करवा सकते है | यह गोल्डन कार्ड उन गरीब लोगो को मिलेगा जो आयुषमान भारत योजना के लाभार्थी होंगे |

भारत सरकार द्वारा आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रकिया को शुरू किया जा चूका है और कोई भी व्यक्ति जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आवेदन करने के बाद स्वर्ण कार्ड को डाउनलोड भी कर सकते है या इसका प्रिंट भी निकलवा  सकते है |

Contents hide

PM Jan Arogya Card 2022 | Download Ayushman Bharat Golden Card Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड देश के हर गरीब लोगो को लाभ पहुंचाने के लिए उपलब्ध कराये जा रहे है यह स्वर्ण कार्ड केवल उन लोगो को मिलेंगे जिनका नाम आयुष्मान भारत लाभार्थी सूची में आएगा | देश के जो लोग इच्छुक लाभार्थी अपना गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते है तो वह बड़ी ही आसानी वह अपने नज़दीकी जन सेवा केंद्र में जाकर आवेदन कर सकते है और वही से ही जन आरोग्य गोल्डन कार्ड भी बनवा सकते है |

प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस योजना से जुडी सभी जानकारी जैसे आप  किस प्रकार स्वर्ण कार्ड बनवा सकते है ,लाभ आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े और लाभ उठाये |

सीधे सूचीबद्ध अस्पताल से प्राप्त किया जा सकता है योजना का लाभ

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना पात्रता आधारित योजना है जिसके अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थियों को नामांकन या पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं है। लाभार्थियों  सीधे कैशलेस उपचार प्राप्त करने के लिए सूचीबद्ध अस्पताल जा सकते हैं। प्रत्येक सूचीबद्ध अस्पताल में प्रधानमंत्री आरोग्य मित्र होता है जो लाभार्थियों को योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सभी आवश्यक सहायता प्रदान करता है।

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का उद्देश्य स्वास्थ्य परिस्थितिकी तंत्र के भीतर स्वास्थ्य डेटा की इंटर ऑपरेबिलिटी को सक्षम करने वाला एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म बनाना है। जिसके माध्यम से प्रत्येक नागरिक का इलेक्ट्रॉनिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड बनाया जा सकेगा। इस योजना के माध्यम से नागरिकों के लिए स्वास्थ्य सेवा को सुलभ बनाया जा सकेगा।

कैंसर, मधुमेह, हृदय रोग और स्ट्रोक की रोकथाम के लिए प्रदान की गई आर्थिक सहायता Ayushman Bharat Card

सरकार द्वारा सदन में यह जानकारी प्रदान की थी सन 2021-22 के दौरान कैंसर, मधुमेह, हृदय रोग और स्ट्रोक की रोकथाम और नियंत्रण के लिए राष्ट्रीय कार्यक्रम के अंतर्गत राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को 561178.07 लाख रुपए प्रदान किए गए है। एनपीसीडीसीएस के तहत सामान्य एनसीडी का इलाज सुनिश्चित करने के लिए जिला स्तर पर 677 एनसीडी क्लीनिक, 187 जिला कार्डियक केयर यूनिट, 266 जिला डे केयर सेंटर और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्टार पर 5392 एनसीडी क्लीनिक स्थापित किए गए हैं।

इसके अलावा स्वास्थ्य देखभाल के लिए देश में मधुमेह, उच्च रक्तचाप और सामान्य कैंसर जैसे सामान्य गैर संचारी रोगों की रोकथाम, नियंत्रण एवं जांच के लिए जनसंख्या आधारित पहल शुरू की गई है। इस पहल के अंतर्गत 30 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति की स्क्रीनिंग की जाएगी।

Ayushman Bharat Golden Card In Highlights

योजना का नामआयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड
इनके द्वारा शुरू की गयीकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के नागरिक
उद्देश्यगोल्डन कार्ड प्रदान करना
ऑफिसियल वेबसाइट https://pmjay.gov.in/
Ayushman Bharat Card

हरियाणा में किया जा रहा है आयुष्मान भारत पखवाड़ा कार्यक्रम का आयोजन Ayushman Bharat Card

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से पात्र नागरिकों को प्रतिवर्ष ₹500000 तक का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाता है। हरियाणा सरकार द्वारा 20 सितंबर 2021 को आयुष्मान भारत योजना के सभी पात्र नागरिकों से अपना आयुष्मान कार्ड बनवाने का आयुष्मान भारत पखवाड़ा के अंतर्गत आग्रह किया गया है।

आयुष्मान भारत पखवाड़ा कार्यक्रम हरियाणा में 15 सितंबर 2021 से 30 सितंबर 2021 तक संचालित किया जा रहा है। जिसके माध्यम से प्रदेश के पात्र नागरिक अपना आयुष्मान कार्ड अटल सेवा केंद्र या फिर किसी भी लिस्टेड सरकारी या निजी अस्पताल से बनवा सकते हैं।

आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए पात्र नागरिकों को अपना आधार कार्ड, राशन कार्ड एवं परिवार पहचान पत्र की प्रति जमा करनी होगी। यह कार्ड बनवाने के लिए आपको किसी भी प्रकार की फीस का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। इस संबंध में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए नागरिक 14555 पर संपर्क कर सकते हैं।

गोल्डन कार्ड बनवाने में जम्मू-कश्मीर आया देश के पांच शीर्ष राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों में Ayushman Bharat Card

जम्मू कश्मीर में पिछले 6 महीने में लगभग 19 लाख आयुष्मान कार्ड बनाए गए हैं। जम्मू कश्मीर अब देश के उन 5 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल हो गया है जिनमें सबसे अधिक आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं। इस बात की जानकारी भारत सरकार की नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के माध्यम से प्रदान की गई है।

इस योजना को 26 दिसंबर 2020 को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा जम्मू कश्मीर में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सेहत के नाम से आरंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक परिवार को ₹500000 का हेल्थ इंश्योरेंस प्रदान किया जाता है। वह सभी लाभ इस योजना के माध्यम से प्रदान किए जाएंगे जो आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से प्रदान किए जाते हैं।

  • इस योजना का लाभ जम्मू कश्मीर के सभी नागरिक उठा सकते हैं चाहे वह सरकारी नौकर हो या पेंशनर हो। अस्पताल में भर्ती होने के 3 दिन पहले एवं 15 दिन बाद तक के खर्च का प्रावधान इस योजना के अंतर्गत निर्धारित किया गया है।
  • Ayushman Bharat Arogya Card Yojana के लाभार्थी देश के 24000 पंजीकृत अस्पतालों में से किसी भी अस्पताल में अपना इलाज करवा सकते हैं। जम्मू-कश्मीर में लगभग 226 पंजीकृत अस्पताल है। जम्मू कश्मीर के राज्यपाल द्वारा इस योजना की निगरानी की जाती है।
  • इस योजना का लाभ सभी नागरिकों तक पहुंचाने के लिए गांव-गांव आयुष्मान अभियान आरंभ किया गया है। इसके अलावा कई जगहों पर कैंप का भी आयोजन किया जाता है। इन कैंप का सहयोग पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधि द्वारा भी किया जाता है।

आपके द्वार आयुष्मान अभियान के अंतर्गत किया गया 9 लाख लाभार्थियों का सत्यापन Ayushman Bharat Card

1 फरवरी 2021 से आपके द्वार आयुष्मान अभियान आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत संचालित किया जा रहा है। इस अभियान के अंतर्गत ग्रामीण एवं पिछड़े हिस्सों में रहने वाले लाभार्थियों को आयुष्मान योजना की जानकारी प्रदान की जा रही है। इसी के साथ उन्हें इस योजना के अंतर्गत आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है। इस समय यह अभियान पंजाब, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तराखंड तथा अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित किया जा रहा है।

इस अभियान के अंतर्गत लाभार्थियों का सत्यापन भी किया जाता है। जिसके पश्चात उनका गोल्डन कार्ड बनवाने की प्रक्रिया आरंभ कर दी जाती है। लाभार्थी द्वारा गोल्डन कार्ड सीएससी केंद्र और यूटीआईआईटीएसएल केंद्र से भी निशुल्क प्राप्त किया जा सकता है।

 इस अभियान के अंतर्गत 25 मार्च 2021 को 9.42 लाख आयुष्मान लाभार्थियों का सत्यापन किया गया है। यह संख्या एक ऐतिहासिक संख्या बन गई है। केवल छत्तीसगढ़ से ही 6 लाख से ज्यादा लाभार्थियों का सत्यापन किया गया है। आपके द्वार आयुष्मान अभियान के अंतर्गत पहली बार एक दिन में इतनी बड़ी संख्या में लाभार्थियों का सत्यापन किया गया है।

आपके द्वार आयुष्मान अभियान के अंतर्गत किए गए सत्यापित लाभार्थियों की संख्या

राज्य का नामसंख्या
छत्तीसगढ़6 लाख
मध्य प्रदेश1,23,488
उत्तर प्रदेश80,377
पंजाब38,488
उत्तराखंड7,460
हरियाणा8,247
बिहार16,070
Ayushman Bharat Card

आयुष्मान भारत कार्ड बनवाना हुआ फ्री Ayushman Bharat Card

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं आयुष्मान भारत योजना सरकार द्वारा 2017 में लांच की गई थी। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को ₹500000 तक का हेल्थ इंश्योरेंस कवर प्रदान किया जाता है। इस योजना का लाभ लगभग 1 करोड़ 63 लाख से ज्यादा लाभार्थी उठा रहे हैं। आयुष्मान भारत कार्ड के माध्यम से लाभार्थी किसी भी निजी अस्पताल में जाकर अपना इलाज करवा सकते हैं।

  • इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा पात्रता कार्ड को फ्री कर दिया है। जिसके लिए ₹30 शुल्क का भुगतान करना पड़ता था। इस फैसले से गरीब परिवारों को काफी राहत मिलेगी। आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी पात्रता कार्ड बनवाने के लिए सामान्य सेवा केंद्र से संपर्क करते थे और ग्रामीण स्तर के ऑपरेटर को ₹30 का भुगतान करते थे।
  • जिसके बाद उन्हें कार्ड प्राप्त होता था। लेकिन अब यह कार्ड प्राप्त करना पूरी तरह से फ्री है। लेकिन यदि आपको डुप्लीकेट कार्ड बनवाना है या आपको कार्ड को दोबारा से प्रिंट करना है तो आपको ₹15 का भुगतान करना होगा। यह कार्ड लाभार्थियों को बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन के बाद प्रदान किया जाएगा।

एनएचए का सीएससी से समझौता Ayushman Bharat Card

नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने सीएससी के साथ समझौता किया है। जिसके अंतर्गत यह तय किया गया है कि पहली बार आयुष्मान कार्ड जारी होने पर नेशनल हेल्थ अथॉरिटी सीएससी को ₹20 का भुगतान करेगी। जिससे कि सिस्टम को और बेहतर बनाया जा सके। इस समझौते का एक उद्देश्य यह भी है कि इस योजना के अंतर्गत पीवीसी आयुष्मान कार्ड तैयार किया जा सके।

आपको बता दें कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ लेने के लिए पीवीसी कार्ड बनवाना अनिवार्य नहीं है। जिन लाभार्थियों के पास पुराने कार्ड है उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। पीवीसी कार्ड बनवाने का एक उद्देश्य यह है कि इसके माध्यम से अधिकारियों को लाभार्थी की पहचान करने में आसानी होती है।

Ayushman Bharat Jan Arogya Card 2022

देश के गरीब लोग जो आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारण अपनी बीमारी का इलाज नहीं करवा पाते और अपनी बीमारी से  जूझते रहते है उन लोगो के लिए भारत सरकार ने सभी गरीब लोगो के  Ayushman Bharat Golden Card 2022 बनाने के आदेश दिए है इस स्वर्ण कार्ड के ज़रिये वह अपनी बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज मुफ्त में करा सकते है उन लोगो को सरकार 5 लाख रूप तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान कर रही है |

इस योजना के तहत लोग बड़ी ही आसानी  से अपना गोल्डन कार्ड प्राप्त कर सकते है | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड देश के हर ग्रामीण और शहरी क्षेत्रो में बनाये जा रहे है जिन लोगो के अभी तक स्वर्ण कार्ड नहीं बनवाये है वह जल्द से जल्द बनवा ले |

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड (PMJAY) का उद्देश्य Ayushman Bharat Card

इस PMJAY Golden Card देश को उपलब्ध करवाने का सरकार का उद्देश्य देश के हर गरीबी रेख से नीचे आने वाले परिवारों को 5 लाख रूपये तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करना और उनकी आर्थिक रूप से मदद करना | जैसे कि आप लोग जानते है

आज भी देश बहुत से लोग किसी न किसी बीमारी से ग्रसित है और उनके पास अपना इलाज करवाने के लिए पैसे नहीं होते इन सभी परेशानियो के देखते हुए केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना को शुरू किया है जिससे किसी  भी गरीब आदमी को बीमारी से बचाया जा सके |इस योजना के तहत सालाना  देश के लगभग  10 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा मिल रहा है |

आयुष्मान भारत योजना 2022 Ayushman Bharat Card

इस योजना को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा वर्ष 2018 में राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन के अंतर्गत  शुरू की गयी है | जन आरोग्य योजना 2022 के अंतर्गत देश के आर्थिक रूप से कमज़ोर परिवारों को 5 लाख रूपये तक का स्वास्थ्य बीमा केंद्र सरकार की तरफ से प्रदान किया जा रहा है जिससे लोग  अपनी बीमारी का अस्पतालों में 5 लाख रूपये तक का मुफ्त इलाज करवा सकते है यह योजना देश सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है जिससे भारत देश को स्वस्थ बनाने में सहायता मिलेगी |

पीएम जन आरोग्य योजना 2022 Ayushman Bharat Card

इस  स्वास्थ्य सुरक्षा योजना  के तहत पहले 1350 उपचार जैसे सर्जरी ,मेडिकल डे केयर ट्रीटमेंट ,डायग्रोस्टिक आदि पैकेज  को शामिल किया गया था लेकिन अब इसमें 19 अन्य आयुर्वेदिक ,होम्योपैथिक ,योग ,यूनानी उपचार पैकेज को शामिल कर लिया गया है |

देश के गरीब नागरिक इन सभी बीमारियों का इलाज योजना के तहत अपना गोल्डन कार्ड बनवाकर  निजी और सरकारी हॉस्पिटलों में जाकर  मुफ्त में करवा सकते है और अपनी बीमारी से मुक्त हो सकते है और हस्पतालो में किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जायेगा |तो देश के लोग जल्द से जल्द अपना गोल्डन कार्ड जन सेवा केंद्र से बनवा ले और हॉस्पिटलों में इसका लाभ उठाये |

Pradhanmantri Jan Arogya Card 2022 के दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड प्राप्त करने के लिए पात्रता की जांच  कैसे करे? Ayushman Bharat Card

देश के जो लाभार्थी  Ayushman Bharat Golden Card सूची में  पात्रता के अनुसार  शामिल किये जायेगा वही लोग जन आरोग्य गोल्डन कार्ड को डाउनलोड कर सकते है | हमने आपको नीचे पूरी प्रकिया दी हुई है उसे ध्यानपूर्वक पढ़े |

  • सर्वप्रथम आपको आयुष्मान भारत योजना की Official Website पर जाना होगा | Official Website पर जाने के बाद आपके सामने वेब पेज खुल जायेगा |
  • इस  वेब पेज पर आपको अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर ,और कैप्चा कोड को भरना होगा | इसके बाद आखिर में जनरेट OTP पर क्लिक करना होगा क्लिक करने के तुरंत बाद ही आपके पंजीकृत मोबाइल फ़ोन पर एक OTP आएगा |
  • फिर खाली बॉक्स में इस OTP को भरना होगा | इसके बाद आपके सामने कुछ विकल्प दिखाई देंगे जैसे
  • 1 .नाम से
  • 2 .मोबाइल नंबर से
  • 3 .राशन कार्ड के द्वारा
  • 4 .RSBI URN द्वारा
  • वांछित विकल्प पर क्लिक करके अपना नाम खोजे इसके बाद पूछे गयी सभी जानकारी भरे | फिर आपके सामने खोज परिणाम आपकी स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जायेगा |

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 कैसे डाउनलोड करे? Ayushman Bharat Card

देश के लोग अपना Ayushman Bharat Golden Card जन सेवा केंद्र और डीएम के कार्यालय से प्रिंट करवा सकते है लेकिन आप गोल्डन कार्ड वही से डाउनलोड कर  सकते है जहा से आपने बनवाया है और जिस एजेंट से बनवाया है वही आपको डाउनलोड करके देगा | नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे |

  • सर्वप्रथम आपको Ayushman Bharat Cloud Website पर जाना होगा | क्लाउड वेबसाइट  पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
  • इस होम पेज पर आपको लॉगिन का विकल्प दिखाई देगा इस लॉगिन का फॉर्म खुलेगा इसमें आपको ईमेल आईडी और पासवर्ड डालकर SIGN  IN  के बटन पर क्लिक करे |
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा इसमें आपको आधार नंबर डालकर आगे  बढ़े और अगले पेज पर अपने अगुठे का निशान वेरीफाई करना होगा |
  • अंगूठा वेरीफाई करने के बाद अगला पेज खुलेगा इस पेज पर आपको बहुत से ऑप्शन देखे देंगे जिसमे से आपको अप्रूवड बेनिफिशियरी के ऑप्शन पर क्लिक कर दे | विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने गोल्डन कार्ड अप्रूव हुआ है उसकी लिस्ट आ जाएगी |
  • फिर लिस्ट में अपना नाम देखे और उसके आगे कंफर्म प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक कर दे | ऑप्शन के विकल्प पर क्लिक करने के बाद आप जन सेवा केंद्र वेलेट पर रीडायरेक्ट हो जायेगा |
  • इसके पश्चात् CSC वेलेट में अपना पासवर्ड डाले फिर पासवर्ड के बाद वेलेट पिन डाले | इसके बाद आप फिर से होम पेज पर आ जायेगे |
  • फिर आपको केंडिडेट के नाम के आगे डाउनलोड कार्ड का  विकल्प दिखाई देगा इस पर क्लिक कर दे और गोल्डन कार्ड को डाउनलोड कर ले |
  • इस तरह आप अपना आयुष्मान गोल्डन कार्ड डाउनलोड कर सकते है |

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे बनवाये? Ayushman Bharat Card

देश  के जो इच्छुक लाभार्थी PMJAY गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते है तो वह निचे दिए गए तरीके को फॉलो करे | और लाभ उठाये | आप लोग दो  जगहों से अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकते है और डाउनलोड भी कर सकते है |

जनसेवा केंद्र  द्वारा Ayushman Bharat Card

  • सर्वप्रथम आवेदक को अपने नज़दीकी जनसेवा केंद्र जाना होगा जन सेवा केंद्र वाले आपका नाम आयुष्मान भारत योजना की सूची में देखेंगे |
  • अगर आपका नाम आयुष्मान भारत योजना सूची में उपलब्ध होगा तो उन्हें गोल्डन कार्ड दिया जायेगा |
  • इसके बाद आपको अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे आधार कार्ड ,राशन पत्रिका ,पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि को जन सेवा केंद्र के एजेंट को ले जाकर दे दे |
  • जिससे एजेंट आपका सफल पंजीकरण करेगा और आपको पंजीकरण आईडी प्रदान करेगा |
  • फिर जनसेवा केंद्र  वाले आपको 10 से 15 दिनों में आयुष्मान कार्ड प्रदान करेंगे और आपको गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए 30 रूपये की फीस देनी होगी |

पंजीकृत और निजी हॉस्पिटलों के द्वारा Ayushman Bharat Card

  • सर्वप्रथम आपको अपने नज़दीकी निजी या सरकारी अस्पतालों में अपने दस्तावेज़ों जैसे आधार कार्ड ,राशन पत्रिका ,पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि  के साथ जाना होगा |
  • इसके बाद आपका नाम जन आरोग्य योजना की सूची में जाँचा जायेगा |
  • इस सूची में नाम आने के बाद ही आपको आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जायेगा |

किसी और के नाम कार्ड जारी होने पर यहां दर्ज कराएं शिकायत

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं आयुष्मान भारत योजना को प्रदेश के कमजोर वर्ग के नागरिकों को ₹500000 तक का सालाना बीमा कवरेज प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया है। यह योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है। इस योजना पर आने वाला खर्च केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाता है।

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के बाद आपको एक गोल्डन कार्ड प्रदान किया जाता है। जिसे आप अस्पताल में दिखाकर ₹500000 तक का मुफ्त इलाज प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपका यह गोल्डन कार्ड किसी कारणवश किसी और के नाम से जारी कर दिया जाता है तो आप को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। आप इस बात की जानकारी टोल फ्री नंबर पर दे सकते हैं।

  • यह शिकायत करने के लिए आपके पास कोई प्रमाणित दस्तावेज उपलब्ध होना अनिवार्य है जैसे कि प्रधानमंत्री जी का पत्र या प्लास्टिक कार्ड। टोल फ्री नंबर 180018004444 तथा 14555 है।
  • इसके अलावा योजना से संबंधित दस्तावेज लेकर लाभार्थी जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय भी जा सकता है। कार्यालय में लाभार्थी को डिस्ट्रिक्ट इंप्लीमेंटेशन यूनिट के पास अपनी शिकायत दर्ज करानी होगी। इस तरह की शिकायतें आने पर मामले की जांच की जाएगी एवं दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा।
  • सत्यापन के बाद शिकायत शासन को भेज दि जाएगी। शासन स्तर से अनुमति प्राप्त होने के बाद लाभार्थी द्वारा सूचीबद्ध चिकित्सालय या जन सेवा केंद्र के माध्यम से आयुष्मान कार्ड बनवा सकता।

आयुष्मान भारत योजना सूचीबद्ध अस्पतालों से संबंधित जानकारी Ayushman Bharat Card

आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको किसी भी प्रकार का पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि यह योजना पूर्णता पात्रता पर आधारित है। जो कि वर्ष 2011 की जनगणना है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी एंपेनल्ड हॉस्पिटल के माध्यम से अपना मुफ्त इलाज करवा सकता है।

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अस्पताल में अपना आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, मनरेगा जॉब कार्ड अथवा सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त फोटो पहचान पत्र ले जाना होगा।
  • जिसके माध्यम से लाभार्थी की पात्रता सुनिश्चित की जाएगी। सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची भी हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके प्राप्त की जा सकती है।
  • इसके अलावा लाभार्थी द्वारा आयुष्मान सारथी ऐप डाउनलोड करके भी इस योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय, ग्राम पंचायत कार्यालय, सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तथा आशा कार्यकर्ता के माध्यम से प्राप्त की जा सकती है।

(रजिस्ट्रेशन) आयुष्मान भारत योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म व पात्रता Ayushman Bharat Card

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना आवेदन | Ayushman Bharat Yojana Form | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड | पीएम आयुष्मान भारत एप्लीकेशन फॉर्म व पात्रता | Ayushman Bharat Registration

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश के गरीब तथा पिछड़े परिवारों को स्वास्थ्य सम्बन्धी बड़ी समस्याओ को दूर करने के लिए भारत सरकार द्वारा आर्थिक रूप से स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जा रहा है प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 14 अप्रैल 2018 को बाबा भीम राव अम्बेडकर जयंती के दिन छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में की गयी थी

और पंडित दीनदयाल  उपाध्याय के जन्मदिन के दिन 25 सितम्बर 2018 को पूरे देश में लागू कर दी गयी है | PMJAY योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार देश के गरीब परिवारों को सालाना 5 लाख रूपये के स्वास्थ्य बीमा की सहायता प्रदान कर रही है |

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana

इस योजना के अंतर्गत  10 करोड़ से भी ज्यादा गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराने के लिए शामिल किया जायेगा| आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जाता है | Ayushman Bharat Yojana के तहत सरकारी /पैनल  अस्पतालों तथा निजी स्वास्थ्य केंद्र में मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी | प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना से जुडी सभी जानकारी जैसे पंजीकरण ,पात्रता की जांच ,आवेदन प्रक्रिया ,दस्तावेज़ आदि आज हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको प्रदान करने जा रहे है |

आयुष्मान सीएपीएफ योजना के अंतर्गत प्रदान किए गए 35 लाख कार्ड

इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा सीएपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों को लगभग 35 लाख आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किए गए हैं। सभी सीएपीएफ कर्मी एवं उनके परिवार देश के 24000 अस्पतालों से कैशलेस उपचार का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय द्वारा 5 जनवरी 2022 को प्रदान की गई। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल जैसे कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ आदि के प्रत्येक कर्मी के लिए खर्च की कोई भी सीमा नहीं होगी। असम राइफल एवं एनएसजी को छोड़कर।

  • यह योजना सीआरपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों के लिए अच्छी स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करेगी। इस योजना के माध्यम से 24000 चैनलबद्ध अस्पतालों के माध्यम से कैशलेस चिकित्सा सुविधाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
  • आयुष्मान सीएपीएफ योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का एक भाग है। जिससे हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 23 सितंबर 2018 को लांच किया गया था। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पिछले वर्ष 23 जनवरी को गुवाहाटी में अर्धसैनिक बलों के जवानों और उनके परिवारों के लिए आयुष्मान सीएपीएफ योजना का उद्घाटन किया गया था।

Highlights Of PM Jan Arogya Yojana 2022

Name of the Scheme Ayushman Bharat Yojana
Launched byMr. Narendra Modi
Date of introducing14-04-2018
Application modeOnline Mode
Start date to applyAvailable Now
Last date to applyNot yet Declared
BeneficiaryCitizen of India
ObjectiveRs 5 Lakh health insurance
Type of schemeCentral Govt. Scheme
Official websitehttps://pmjay.gov.in/
Ayushman Bharat Card

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना 2022 का उद्देश्य

हमारे देश के गरीब परिवारों में किसी को बड़ी बीमारी होने पर आर्थिक तंगी होने के कारण अस्पतालों में इलाज नहीं कर पाते तथा इलाज का खर्च उठाने में असमर्थ होते है उन लोगो को इस योजना के ज़रिये 5 लाख तक के स्वास्थ्य बीमा की सहायता प्रदान करना जिससे उन्हें अस्पतालों में मुफ्त इलाज मिल सके तथा गरीब परिवारों की स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओ को दूर करना और बीमारी के चलते मृत्यु दर को कम  करना |

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना 2022 के ज़रिये देश के आर्थिक रूप से कमज़ोर गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करके आर्थिक सहायता प्रदान करना है |

आयुष्मान भारत योजना का बढ़ाया जायेगा दायरा Ayushman Bharat Card

सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का दायरा बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके अलावा इस योजना को अन्य सरकारी योजनाओं से भी जोड़ा जाएगा। सरकार द्वारा इस योजना के विकास के लिए विभिन्न प्रकार की संभावनाओं पर विचार भी किया जा रहा है। केंद्र सरकार द्वारा हेल्थ केयर का बजट बढ़ाने का भी निर्णय लिया गया है।

इस बात की जानकारी स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और नीति आयोग की ओर से आयोजित किए गए कार्यक्रम पक्की हिल 2021 के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए नीति आयोग के सदस्य डॉ पाल ने प्रदान की। इसके अलावा उनके द्वारा उद्योग जगत एवं स्वास्थ्य क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने का भी आवाहन किया गया। इस योजना को बेहतर बनाने पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने उन सभी अस्पतालों से भी इस योजना से जुड़ने का आवाहन किया है जो अब तक इस योजना से नहीं जुड़े हैं।

  • राज्य सरकारों द्वारा हेल्थ केयर का बजट बढ़ाने की भी योजना बनाई जा रही है। मौजूदा समय में यह बजट 4.5% है जिसे बढ़ाकर 8% करने की योजना है। जिससे कि हेल्थकेयर सेक्टर का विकास किया जा सकेगा। उनके द्वारा सभी निजी क्षेत्रों से भी अपील की गई है कि वह अगले साल के बजट के लिए सुझाव प्रदान करें।
  • डॉक्टर पाल ने अपना विचार रखते हुए यह भी कहा कि जिला अस्पताल को मेडिकल कॉलेज में भी बदलने पर विचार किया जाना चाहिए। जिससे कि मानव संसाधनों को बढ़ावा मिले। उनके द्वारा सभी निजी क्षेत्रों से अपील की गई कि वह डीएनबी शिक्षा पर भी फोकस बढ़ाएं जिससे कि देश में स्पेशलिस्ट डॉक्टर की संख्या बढ़े।

आरोग्य मंथन 3.0 का उद्घाटन

23 सितंबर 2021 को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडवीया आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तीसरी वर्षगांठ का उद्घाटन करेंगे। जिसे आरोग्य मंथन 3.0 के रूप में मनाया जाएगा। इस वर्ष गाठ को आयुष्मान भारत दिवस के रूप में भी मनाया जाता है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के द्वारा जारी किए गए बयान के अनुसार आरोग्य मंथन 3.0 को 23 सितंबर 2021 से लेकर 25 सितंबर 2021 तक मनाया जाएगा। 27 सितंबर 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय रोलआउट के साथ समापन सत्र आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर इस योजना से जुड़े अन्य अधिकारी भी उपस्थित होंगे।

इसके अलावा इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री द्वारा योजना के लाभार्थियों से बातचीत भी की जाएगी। मनसुख मांडवीया द्वारा एन एच ए की वार्षिक रिपोर्ट 2020-21 का तीसरा संस्करण भी जारी किया जाएगा। इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को पुरस्कार भी प्रदान किया जाएगा।

मानवीय द्वारा इस अवसर पर हॉस्पिटल हेल्पडेस्क किओस्क, लाभार्थी सुविधा एजेंसी, पीएमजेएवाई कमांड सेंटर और नज यूनिट, पीएमजेएवाई टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म का भी शुभारंभ किया जाएगा। इस पहल से लाभार्थियों तक बेहतर तरीके से स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाई जाएंगी।

उद्घाटन सत्र के बाद आयोजित किए जाएंगे कुछ अन्य कार्यक्रम

इस योजना का लाभ सभी पात्र नागरिकों तक पहुंचाने के लिए आपके द्वार आयुष्मान ड्राइव का भी शुभारंभ किया गया था। इस अभियान के माध्यम से लगभग 3 करोड़ लाभार्थियों का सत्यापन डोर टू डोर कैंपेन के माध्यम से किया गया है। पिछले 3 साल में 16.50 करोड़ लाभार्थियों की पहचान की गई है।

उद्घाटन सत्र के बाद यूनिवर्सल हेल्थ केयर कवरेज सुधारो और चुनौतियों पर एक तकनीकी सत्र का भी आयोजन किया जाएगा। तकनीकी सत्र का विषय हेल्थ इंश्योरेंस पेनिट्रेशन टू कवर द मिसिंग मिडिल थ्रू कन्वर्जेंस ऑफ नेशनल स्किल होगा। इस सत्र को 25 सितंबर 2021 को आयोजित किया जाएगा। उसी दिन डिजिटल परिवर्तन के माध्यम से स्वास्थ्य देखभाल नामक एक और सत्र आयोजित किया जाएगा।

योजना के संचालन में खर्च की गई 26400 करोड़ रुपए की राशि

आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 23 सितंबर 2018 में आरंभ किया गया था। जिससे कि यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज प्राप्त की जा सके। इस योजना के माध्यम से देश के 10.74 करोड़ परिवारों को ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान किया जाता है। यह योजना को 33 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित कि जा रही है। इस योजना के आरंभ से अब तक लगभग 2 करोड़ उपचार किए जा चुके हैं।

जिसके लिए सरकार द्वारा 26400 करोड रुपए की राशि खर्च की गई है। इस योजना के अंतर्गत 24000 अस्पतालों को एंपैनल किया गया है। जो कि सरकारी एवं निजी है। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 918 हेल्थ बेनिफिट पैकेजेस है जिसमें 1669 प्रोसीजर है। लाभार्थी इस योजना के माध्यम से कोविड-19 का उपचार भी करवा सकता है।

इसके अलावा हड्डी रोग, कार्डियोलॉजी, कार्डियोथोरेसिक एंड वैस्कुलर सर्जरी, रेडिएशन, ऑंकोलॉजी, यूरोलॉजी आदि का उपचार भी इस योजना के अंतर्गत शामिल किया गया है। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत सभी पात्र लाभार्थियों को कवर किया जा रहा है।

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत दांतों का इलाज

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana को आरंभ करते समय इस योजना के अंतर्गत दांतों का इलाज शामिल किया गया था। लेकिन कुछ समय बाद सरकार द्वारा दांतों के इलाज को इस योजना से बाहर कर दिया गया था। जिसके बाद केवल कुछ सर्जिकल डेंटल ट्रीटमेंट ही इस योजना के अंतर्गत शामिल किए गए थे।

डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा स्वास्थ्य मंत्रालय से लगातार दांतों के इलाज को योजना के अंतर्गत शामिल करने की मांग की जा रही थी। इस मांग को मद्देनजर रखते हुए  अब सरकार द्वारा अब इस योजना के अंतर्गत दांतों के इलाज को शामिल करने पर विचार किया जा रहा है।

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से विभिन्न प्रकार के दांतों के इलाज को शामिल करने पर सुझाव मांगे गए हैं। यह सुझाव एक पत्र के माध्यम से मांगे गए हैं। जिसमें नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से उन इलाजो की सूची मांगी गई है जो आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल किए जा सकते हैं।
  • जल्द इस संबंध में नेशनल हेल्थ अथॉरिटी एवं डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया की एक मीटिंग भी आयोजित की जाएगी। इस मीटिंग में डेंटल पैकेज को योजना के अंतर्गत शामिल करने पर चर्चा की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत आमतौर पर नियमित होने वाले डेंटल के सभी इलाज को शामिल किया जा सकता है। जैसे कि दांत लगवाना, दांत निकलवाने से लेकर दांत का फ्रैक्चर, दात ठीक करवाना,  ओरल कैंसर, बैक्टीरियल एंडोकार्डिटिस, पायरिया आदि।

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए किया जाएगा नई योजना का आरंभ

कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि अब मध्य प्रदेश के कोरोना वायरस संक्रमित नागरिकों को निशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाएगी। जिसके लिए सरकार द्वारा नई योजना लागू की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के गरीब एवं माध्यमिक वर्ग के नागरिकों को निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी।

स योजना के लिए आयुष्मान भारत योजना के निजी अस्पतालों को एक विशेष पैकेज प्रदान किया जाएगा। जिसे राज्य सरकार द्वारा कोविड के इलाज के लिए अनुबंधित किया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 6 मई 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना नियंत्रण कोर ग्रुप के साथ एक बैठक की गई थी। इस बैठक में इस योजना को आरंभ करने का निर्णय लिया गया है। इस योजना के अंतर्गत सीटी स्कैन, दवाई, ऑक्सीजन, परामर्श शुल्क आदि प्रदान की जाएंगी।

एमपी में आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत संक्रमित नागरिकों का इलाज

मध्य प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 2 करोड़ 42 लाख कार्ड बन चुके हैं। जिसके अंतर्गत 88% जनसंख्या कवर्ड हो गई है। यह सभी कार्ड धारक कोरोना वायरस संक्रमण का निशुल्क इलाज प्राप्त कर सकते हैं। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 382 निजी अस्पताल एंपेनेल्ड है। इनमें 23946 बेड उपलब्ध है। 5 मई 2021 को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 68 निजी अस्पतालो को 3 महीने के लिए एंपेनल किया गया है।

प्रत्येक जिले के कलेक्टर को सरकार द्वारा यह अधिकार दिए गए हैं कि वह अपने जिले में निजी अस्पताल को Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत अस्थाई रूप से एंपैनल कर सकते हैं। जिससे की प्रत्येक जिले के निजी अस्पताल में संक्रमित नागरिकों का निशुल्क इलाज हो सके।

Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022
Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022

परिवार के एक सदस्य के पास आयुष्मान भारत योजना का कार्ड होने पर अन्य सदस्य उठा सकेंगे लाभ(मध्य प्रदेश)

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा एक और अहम फैसला लिया गया है। जिसके अंतर्गत यदि परिवार के किसी सदस्य के पास Ayushman Bharat Yojana का कार्ड है तो परिवार के अन्य सदस्य भी कोरोनावायरस संक्रमण का निशुल्क इलाज की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं। संक्रमित होने पर अस्पताल में भर्ती होने की यदि स्थिति आती है तो जिले के कलेक्टर द्वारा आयुष्मान कार्ड बनवाने की व्यवस्था भी की जाएगी।

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए आयुष्मान भारत पैकेज की दरों को 40% बढ़ा दिया गया है। जिसमें रूम रेंट, भोजन, परामर्श शुल्क, जांचे, पैरामेडिकल शुल्क आदि शामिल है।

कोरोना वायरस से संक्रमित होने पर एडवांस डायग्नोस्टिक के लिए ₹5000 की आर्थिक सहायता(मध्य प्रदेश)

कोरोनावायरस संक्रमण होने पर इलाज कराने के लिए कई बार एडवांस डायग्नोस्टिक की जरूरत पड़ती है। जिसके लिए फीस का भुगतान करना होता है। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा अब एडवांस डायग्नोस्टिक के लिए प्रत्येक लाभार्थी को ₹5000 प्रदान किए जाएंगे।

जिससे की प्रदेश के नागरिक इलाज करवाने के लिए एडवांस डायग्नोस्टिक से वंचित ना रहे। इस योजना को लागू होने के बाद प्रदेश में 60915 बेड उपलब्ध होंगे। इनमें 37159 बेड शासकीय अस्पतालों में उपलब्ध होंगे, 3675 बेड अनुबंधित अस्पतालों में उपलब्ध होंगे तथा 20081 बेड आयुष्मान भारत के अंतर्गत अनुबंधित निजी अस्पताल में उपलब्ध किए जाएंगे।

आयुष्मान सी ए पी एफ स्वास्थ्य बीमा योजना

नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी की जयंती पर हमारे देश के गृह मंत्री अमित शाह के द्वारा आयुष्मान सी ए पी एफ स्वास्थ्य बीमा योजना का आरंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत देश के सभी सशक्त पुलिस बलों के कर्मियों को केंद्र सरकार द्वारा स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। इस स्वास्थ्य बीमा का लाभ प्रत्येक पुलिस कर्मी उठा पाएगा।

इस योजना के अंतर्गत सी ए पी एफ, आसाम राइफल एवं राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के 28 लाख पुलिस कर्मियों को तथा उनके परिवारों को शामिल किया गया है। आयुष्मान सी ए पी एफ स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत 10 लाख जवान और अधिकारी एवं उनके परिवार के 50 लाख लोग भी शामिल है। यह सभी लोग देश के 24000 अस्पतालों में निशुल्क अपना इलाज करवा पाएंगे।

  • यह योजना आयुष्मान भारत: प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आरंभ की गई है। इस मौके पर गृह मंत्री ने 7 केंद्र सशक्त पुलिस बल के कर्मियों को आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड का वितरण किया।
  • इस अवसर पर गृहमंत्री ने पुलिस के जवानों का कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई करने में भी सराहना की। उन्होंने बताया कि कई जवान वायरस से संक्रमित हुए और उनकी जान भी गई। उन्होंने सभी जवानों को इस लड़ाई में सफलतापूर्वक विजय प्राप्त करने पर बधाई दी।
  • इसी के साथ सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण एवं केंद्रीय मंत्रालय के बीच एक एमओयू पर साइन किए गए। इस प्रक्रिया के दौरान गृहमंत्री श्री अमित शाह, आसाम के मुख्यमंत्री श्री सर्वानंद सोनोवाल, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री श्री नित्यानंद राय तथा आसाम के स्वास्थ्य मंत्री श्री हिमंत विश्व शामिल थे।

आयुष्मान भारत योजना का हुआ तेलंगाना में शुभारंभ

आयुष्मान भारत योजना केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है। इस योजना के माध्यम से सभी लाभार्थियों को ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाता है। इस योजना के अंतर्गत कोविड-19 का इलाज भी कवर किया जाता है। तेलंगाना सरकार द्वारा भी अब तेलंगाना में इस योजना को संचालित किया जाएगा। इसके लिए तेलंगाना स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

  • तेलंगाना सरकार के इस कदम से अब राज्य को कोविड-19 संकट से बेहतर तरीके से लड़ने में मदद प्राप्त होगी। क्योंकि अब ऑक्सीजन की आपूर्ति एवं कोविड-19 उपचार के लिए आवश्यक दवाओं की लागत इस योजना के अंतर्गत कवर को जाएगी।
  •  इस योजना के माध्यम से लगभग 10.74 करोड़ से अधिक गरीब और कमजोर परिवारों को लाभ प्रदान किया जाएगा। तेलंगाना सरकार द्वारा तेलंगाना में आयुष्मान भारत योजना को लागू करने का निर्णय दिसंबर 2020 में ले लिया गया था।
  • इसके लिए समझौता ज्ञापन 18 मई 2021 को हस्ताक्षर किया गया है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव द्वारा सभी अधिकारियों को इस योजना के दिशा निर्देशों के अनुरूप चिकित्सा सेवाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

PMJAY सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के लिए सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना का आरंभ किया गया है। इस योजना को सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लॉन्च किया है। पहले जम्मू कश्मीर के सभी नागरिक आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं उठा पा रहे थे। केवल प्रदेश के 600000 परिवार ही इस योजना का लाभ उठा पा रहे थे।

लेकिन अब सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत प्रदेश के 2100000 परिवार स्वास्थ्य बीमा का लाभ उठा पाएंगे। सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना की खास बात यह है कि इस योजना का लाभ जम्मू कश्मीर का प्रत्येक नागरिक उठा सकेगा। जबकि आयुष्मान भारत योजना का लाभ देश के केवल गरीबी रेखा से नीचे आने वाले परिवार ही उठा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा ₹500000 का हेल्थ कवर प्रदान किया जाएगा।

  • सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना केवल जम्मू-कश्मीर के नागरिकों के लिए हैं। अब वह सब लोग जो आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा नहीं प्राप्त कर पा रहे थे उन्हें स्वास्थ्य बीमा प्राप्त होगा। सेहत बीमा योजना के अंतर्गत जम्मू कश्मीर के 229 सरकारी अस्पताल तथा 35 प्राइवेट अस्पताल रजिस्टर्ड है।
  • अब जम्मू कश्मीर के नागरिक अपना इलाज करवाने के लिए देश के किसी भी एंपेनल्ड अस्पताल में जा सकते हैं और अपना इलाज फ्री में करवा सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा इस योजना को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आरंभ किया गया है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रधानमंत्री जी ने आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों से सीधे बात की तथा उन्होंने इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सेहत बीमा योजना के लाभ भी समझाएं।

आयुष्मान भारत योजना नई अपडेट

जैसे की आप लोग जानते है कि भारत देश में कोरोना वायरस का संक्रमण चल रहा है जिसकी वजह से पूरे देश के लोग बहुत ही डरे हुए है | इस कोरोना वायरस की वजह से प्रधानमंत्री जी ने पूरे देश में 3 मई तक लॉक डाउन कर दिया है इस संक्रमण से बचाने के लिए एक पहल की है देश के जो 50 करोड़ से अधिक नागरिक इस योजना के अंतर्गत आते है और जो लाभार्थी इस PMJAY 2021 के अंतर्गत पंजीकृत है उन लाभार्थियों का निजी प्रयोगशाला में और पैनल के अस्पतालों में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच और इलाज मुफ्त में करायी जाएगी | देश के सभी आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी इस सुविधा का लाभ उठा सकते है |

PMJAY 2022 Hospital List

इस  योजना के अंतर्गत देश के  गरीब परिवार के सदस्य को सरकारी अस्पताल में दाखिला तथा इलाज का पूरा खर्च कवर किया जायेगा | आयुष्मान भारत योजना में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 1350 पैकेज शामिल किये गए है जिसमे कीमोथेरेपी ,मस्तिष्क सर्जरी ,जीवनरक्षक , आदि इलाज शामिल है | जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत  पंजीकरण कराना चाहते है

तो वह निकट जन सेवा केंद्र (CSC) में जाकर पंजीकरण करा सकते है और योजना का लाभ उठा सकते है | PMJAY 2022 के तहत जन सेवा केंद्र में आयुष्मान मित्र के माध्यम से गोल्डन कार्ड बनाये जा रहे है इस गोल्डन कार्ड के माध्यम से आप किसी भी सरकारी अस्पताल तथा निजी स्वास्थ्य केंद्र में 5 लाख तक का मुफ्त इलाज करा सकते है |

PM Jan Arogya Yojana Free Corona Test

अब आप निशुल्क COVID-19 परीक्षण केंद्र / अस्पताल सूची (n: शुल्क COVID-19 परीक्षण केंद्र / अस्पताल सूची) को आधिकारिक वेबसाइट और हमारी वेबसाइट से भी देख सकते हैं। यह योजना सार्वजनिक अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी कैशलेस उपचार का वादा करती है। आयुष्मान भारत योजना के तहत घुटने की रिप्लेसमेंट, कोरोनरी बाईपास और अन्य जैसी महंगी सर्जरी भी शामिल हैं। अब आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत मुफ्त में उपलब्ध COVID -19 का परीक्षण और उपचार भी शामिल किया है |आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी को अपना कोरोना का चेकअप मुफ्त में करवा सकते है |

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का कार्यान्वयन

यह भारत देश के लोगो के लिए पीएम हेल्थ इंशोरेंस योजना है सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रो के 8 .03 करोड़ परिवार और शहरी क्षेत्रो के 2 .33 करोड़ परिवारों को इस योजना के अंतर्गत शामिल किया जायेगा | प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक 3 .07 करोड़ लाभाथियों को आयुष्मान गोल्डन कार्ड जारी किया गया है |

गोल्डन कार्ड के ज़रिये लाभार्थी निजी अस्पतालों में मुफ्त इलाज करा सकते है| इस योजना के तहत लाभार्थी पात्रता की जांच कर सकते है पात्रता की जांच करने की प्रकिया नीचे दी गयी है|जिससे लाभार्थी सरलता से पात्रता  की जांच कर सकते है | Pradhan Mantri Ayushman Bharat Scheme का लाभ उठाने के लिए जल्द से जल्द आवेदन करना होगा|

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत आने वाले रोग

  • बाईपास तरीके से कोरोनरी आर्टरी का बदलाव
  • प्रोस्टेट कैंसर
  • करॉटिड एनजीओ प्लास्टिक
  • Skull base सर्जरी
  • डबल वाल्व रिप्लेसमेंट
  • Pulmonary वाल्व रिप्लेसमेंट
  • एंटीरियर स्पाइन फिक्सेशन
  • Laryngopharyngectomy
  • टिश्यू एक्सपेंडर

आयुष्मान भारत योजना स्टैटिसटिक्स

हॉस्पिटल ऐडमिशंस1,48,78,296
ई कार्ड्स issued12,88,61,366
हॉस्पिटल्स एंपेनल्ड24,082

वह रोग जो आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत नहीं आते

  • ड्रग रिहैबिलिटेशन
  • ओपीडी
  • फर्टिलिटी संबंधित प्रक्रिया
  • कॉस्मेटिक संबंधित प्रक्रिया
  • अंग प्रत्यारोपण
  • व्यक्तिगत निदान

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Scheme का लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत 10  करोड़ से भी अधिक परिवारों को शामिल किया जायेगा |
  • प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत गरीब परिवारों को 5 लाख रूपये तक का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जा रहा है |
  • PMJAY Yojana में उन परिवारो को भी शामिल किया जा रहा है जो 2011 में सूचीबद्ध है |
  • इस योजना अंतर्गत दवाई की लागत ,चिकित्सा , सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी तथा 1350 बीमारियों का इलाज कराया जायेगा |
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है।
  • आयुष्मान भारत योजना को हम जन आरोग्य योजना के नाम से भी जानते हैं।
  • इस योजना का संचालन स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा कराया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को अपना इलाज करवाने के लिए पैसों की चिंता करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana के दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • परिवार के सभी लोगो का
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पते का सबूत

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना 2022 पात्रता की जांच कैसे करे ?

जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत अपनी पात्रता की जांच करना चाहते है नीचे दिए गए 2  तरीके के अनुसार कर सकते है  |

  • सर्वप्रथम प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये |
  • इसके पश्चात् आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर “AM I Eligible”  का विकल्प दिखाई देगा इस विकल्प पर क्लिक कर दीजिये | विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक नई विंडो खुलेगी |
  • इसके बाद योग्य अनुभाग के तहत लॉगिन के लिए अपने मोबाइल  नंबर को OTP के साथ सत्यापित करे |
  • लॉगिन करने के पश्चात् प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना में अपने परिवार की पात्रता की जांच करे इसके बाद दो  विकल्प दिखाई देंगे पहले विकल्प में अपने राज्य चुने
  • इसके पश्चात्  फिर दूसरे विकल्प में तीन श्रेणियाँ मिलेंगी नाम से  अपने राशन कार्ड से तथा मोबाइल नंबर से खोजे दी गयी श्रेणियों में से एक को चुन सकते है| इसके बाद सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दीजिये|
  • दूसरे तरीके में अगर आप जन सेवा केंद्र (CSC)के माधयम से अपने परिवार की पात्रता की जांच करना चाहते है तो  आपको जनसेवा केंद्र में जाना होगा और अपने सभी मूल दस्तावेज़ को एजेंट के पास जमा कर दीजिये इसके बाद एजेंट आपके दस्तावेज़ के ज़रिये आपकी पात्रता की जांच अपने जन सेवा केंद्र (CSC) से लॉगिन करेंगे |

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना 2022 में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कैसे करे ?

जो लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करना चाहते है वो हमारी पंजीकरण प्रकिया को ध्यान पूर्वक पढ़े और इस योजना लाभ उठाये |

  • सर्वप्रथम प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के तहत आवेदन करने के लिए जन सेवा केंद्र (CSC) में जाये और अपने सभी मूल दस्तावेज़  की छाया प्रति  को जमा कर दे |
  • इसके पश्चात् जनसेवा केंद्र (CSC) के एजेंट द्वारा सभी दस्तावेज़ों का सत्यापन करके योजना के तहत पंजीकरण सुनिश्चित करेंगे तथा आपको पंजीकरण प्रदान करेंगे |
Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022
Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022
  • इसके पश्चात् 10 से 15 दिन के बाद आपको जन सेवा केंद्र के द्वारा आयुष्मान भारत का गोल्डन कार्ड प्रदान किया जायेगा | इसके बाद आपका पंजीकरण सफल हो जायेगा |

आयुष्मान भारत योजना 2022 ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको गूगल प्ले स्टोर खोलना होगा।
  • अब आपको सर्च बॉक्स में आयुष्मान भारत भरकर एंटर करना होगा।
  • अब आपके सामने एक सूची खुलकर आएगी सूची में से आपको सबसे ऊपर वाले ऐप पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करेंगे आयुष्मान भारत ऐप आपके मोबाइल फोन में डाउनलोड हो जाएगा।
Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022
Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022

ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मेनू बार के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको ग्रीवेंस पोर्टल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने नया पोर्टल खुल कर आएगा।
  • आपको रजिस्टर योर ग्रीवेंस एबी-पीएमजेएवाई के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें ग्रीवेंस फॉर्म होगा।
  • आपको इस फॉर्म में निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • ग्रीवेंस बाय
    • केस टाइप
    • एनरोलमेंट की जानकारी
    • बेनिफिशियरी डीटेल्स
    • ग्रीवेंस डिटेल
    • अपलोड फाइल्स
  • अब आपको डिक्लेरेशन पर टिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप ग्रीवेंस दर्ज कर पाएंगे।

ग्रीवेंस स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको यहां दी गई लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको ट्रैक योर ग्रीवेंस के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • आपको इस पेज पर अपना रिफरेंस नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • ग्रीवेंस स्टेटस आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगा।

एंपेनल्ड हॉस्पिटल ढूंढने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मेनू के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको फाइंड हॉस्पिटल के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • आपको इस पेज पर निम्नलिखित कैटेगरी का चयन करना होगा।
    • राज्य
    • जिला
    • हॉस्पिटल टाइप
    • स्पेशलिटी
    • हॉस्पिटल का नाम
  • अब आपको कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

डी एम पैनल हॉस्पिटल ढूंढने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मेनू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने डी एम पैनल हॉस्पिटल की सूची खुलकर आ जाएगी।

हेल्थ बेनिफिट पैकेज देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको मेनू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको हेल्थ बेनिफिट पैकेज के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर सभी हेल्थ बेनिफिट पैकेज की सूची पीडीएफ फॉर्मेट में उपलब्ध होगी।
  • आपको अपनी आवश्यकता अनुसार हेल्थ बेनिफिट पैकेज के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • हेल्थ बेनिफिट पैकेज से संबंधित जानकारी आपकी स्क्रीन पर होगी।

एडज्यूडिकेशन क्लेम से संबंधित जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मेनू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको क्लेम एडज्यूडिकेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर क्लेम से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध होगी।
  • आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

जन औषधि केंद्र ढूंढने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको मेनू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको जन औषधि केंद्र के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको लिस्ट ऑफ जन औषधि केंद्र के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे जन औषधि केंद्र की सूची आपके स्क्रीन पर खुलकर आ जाएगी।

कोविड-19 वैक्सीनेशन हॉस्पिटल ढूंढने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मेनू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको कोविड वैक्सीनेशन हॉस्पिटल के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपना राज्य एवं जिले का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको सर्च कर विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आप की कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

कोविड-19 पेमेंट डिटेल देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इसके पश्चात आपको मेनू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको कोविड वैसीनेशन पेमेंट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने निम्नलिखित ऑप्शन खुल कर आएंगे।
    • न्यू पेमेंट/जनरेट पस्त पेमेंट एकनॉलेजमेंट
  • एसबीआई कलेक्ट फॉर्म
  • आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपनी सीवीसीआईडी एवं ऑर्डर आईडी दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको सर्च कर विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • पेमेंट डिटेल आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।
  • यदि आपने एसबीआई कलेक्ट फॉर्म का चयन किया है तो आपको प्रोसीड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको कैटेगरी का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको हॉस्पिटल लॉगइन आईडी दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मेनू के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात डैशबोर्ड के विकल्प के अंतर्गत दो ऑप्शन होंगे।
    • PM-JAY पब्लिक डैशबोर्ड
    • PM-JAY हॉस्पिटल परफॉर्मेंस डैशबोर्ड
  • आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको लॉगिन करना होगा।
  • लॉग इन करने के पश्चात डैशबोर्ड से संबंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

फीडबैक देने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको मेनू के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको फीडबैक के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप फीडबैक के लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने फीडबैक फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • आपके इस फॉर्म में पूछी गई निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • नाम
    • ईमेल
    • मोबाइल नंबर
    • रिमार्क्स
    • कैटेगरी
    • कैप्चा कोड
  • अब आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप फीडबैक दे पाएंगे।

Helpline Number

  • Toll-Free Call Center Number- 14555/1800111565
  • Address: – 3rd, 7th & 9th Floor, Tower-l, Jeevan Bharati Building, Connaught Place, New Delhi – 110001

यह भी पढ़ें:

लेटेस्ट न्यूज अपडेट,  गैजेट्स रिव्यु, और एक्सक्लूसिव कंटेंट के लिए आप हमको Google NewsFacebookInstagram और Twitter पर फॉलो करें।

आशा करता हूँ आपको आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 | Ayushman Bharat Card Kaise Banega 2022 ये लेख पसंद आया होगा. तो इसे अपने फेसबुक , गूगल और ट्विटर अकाउंट में जरूर शेयर करें.अगर आपके मन मे कोई सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट में जरूर लिखें

Previous articleDIZO Watch R in Hindi 10 दिनों तक चलेगी इस स्मार्टवॉच की बैटरी, जानिए क्या है कीमत Best
Next articleOppo Reno 7 5G in Hindi भारत में MediaTek डाइमेंशन 1200 MAX SoC, 65W चार्जिंग के साथ लॉन्च देखें संभावित कीमत और स्पेसिफिकेशन Best Phone
Mohd Aatif is the Author & Co-Founder of the aatifblog.com. He has also completed his graduation in Computer Engineering from Kanpur(UP) . He is passionate about Blogging & Digital Marketing.

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here