Rich Dad Poor Dad Book in Hindi | रिच डैड पुअर डैड _ #1 Best-Selling Personal Finance Education

Rich Dad Poor Dad Book in Hindi
Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

Rich Dad Poor Dad Book Summary in Hindi pdf Download, Rich Dad Poor Dad Book in Hindi, Rich Dad Poor Dad Book review in hindi, Rich Dad Poor Dad Book pdf download, Rich Dad Poor Dad Book summary in hindi, Rich Dad Poor Dad Book in Hindi Rich dad poor dad review, rich dad poor dad pdf, rich dad poor dad summary in hindi

Rich Dad Poor Dad Book in Hindi – Hello दोस्तों, आज मैं आप लोगों को एक ऐसी जबरदस्त बुक की Summary Rich Dad Poor Dad – रोबर्ट टी. kiyosaki के द्वारा लिखी गई जो दुनिया की बेस्ट बुक में से एक, उसके बारे में बताने वाला हूँ।

रॉबर्ट टी. कियोसाकी द्वारा लिखी गई पुस्तक Rich Dad Poor Dad में पैसों का Management कैसे करना है बहुत अच्छे से बताया गया है। “रिच डैड पुअर डैड” किताब -पैसो के बारे में अमीर लोग और गरीब लोग अपने बच्चो को क्या सिखाते है? इसके बारे में सपूर्ण जानकारी हिंदी में हर व्यक्ति अमीर बनना चाहता है। सभी का सपना होता है, कि उनके पास बहुत धन दौलत हो महंगी गाड़ियां, बंगले, महंगे कपड़े हों।

यह सपना तो सभी लोग देखते हैं, पर बहुत कम लोग ही इस सपने को पूरा कर पाते हैं। ऐसा नहीं है कि लोग मेहनत नहीं करते। बेशक वह कड़ी मेहनत करते हैं, पर पैसों का मैनेजमेंट कैसे करना है लोग यह नहीं जानते हैं। इस वजह से लोगों के अमीर बनने के सपने पूरे नहीं हो पाते।

Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

रिच डैड पुअर डैड बुक हिंदी में बचपन से ही हमारे दिमाग में यह बात डाल दी जाती है, यदि आप अच्छे से पढ़ाई करते हैं, अच्छे Marks लेकर आते हैं तो Future में आपको अच्छी job मिलेगी। और आप खूब सारा धन कमाएंगे। परंतु हमारे देश भारत में बहुत से ऐसे लोग हैं जो बहुत ज्यादा पढ़े लिखे हैं, और अच्छी नौकरी में होते हुए भी वित्तीय तौर पर मजबूत नहीं है। वहीं दूसरी तरफ ऐसे भी लोग हैं, जो ना तो अच्छे से पढ़ाई किए होते हैं, और ना ही किसी के under में job करते हैं, फिर भी वे अमीर लोगों की गिनती में सबसे आगे हैं। इसका सबसे अच्छा उदाहरण धीरूभाई अंबानी जी हैं।

Rich Dad Poor Dad Book in Hindi
Rich Dad Poor Dad Book in Hindi Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

हम कह सकते हैं,  कि कोई भी व्यक्ति सिर्फ पढ़ाई और नौकरी के दम पर ही गरीब और अमीर नहीं हो सकता है। इसके लिए आपको Financial Management को समझना बहुत जरूरी है। चलिए आप सभी को इस Finance Management को रॉबर्ट कियोसकी द्वारा लिखित पुस्तक Rich Dad Poor Dad Book Summary in Hindi से समझाते हैं।

Rich Dad Poor Dad Book Summary in Hindi

रॉबर्ट टी कियोसाकी के दो पिता हैं, जिनमें से एक अमीर है और एक गरीब है। अब आप सोचेंगे दो पिता कैसे? एक उनके जन्मदाता है, जो कि गरीब थे। और दूसरे पिता उनके बेस्ट फ्रेंड के पिता थे। जिन्हें रॉबर्ट अपना पिता मानता था। एक पिता जो गरीब है, बहुत ही ज्यादा पढ़े-लिखे हैं और उनके दूसरे पिता जो अमीर है उन्होंने अपने स्कूल की पढ़ाई भी पूरी नहीं की है। दोनों ने अपनी जिंदगी में बहुत कड़ी मेहनत की थी और दोनों ने ही अपने क्षेत्र में सक्सेस भी प्राप्त की थी। पैसों को लेकर उन दोनों की राय भी बिल्कुल अलग थी। Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

इन्हें हम कुछ पॉइंट्स की मदद से समझते हैं।

1. सोच-

रॉबर्ट कियोसकी के पहले पिता का मानना था कि वह कोई वस्तु खरीद नहीं सकते जबकि दूसरे पिता इस बात से चिढ़ते थे। दूसरे पिता रॉबर्ट को हमेशा समझाते थे कि तुम किसी चीज को कैसे खरीद सकते हो इस बारे में सोचो।

पहले पिता की सोच नकारात्मक है। वहीं पर दूसरे पिता की सोच प्रश्नवाचक है। नकारात्मक सोच बात को वहीं पर खत्म कर देता है। जबकि प्रश्नवाचक सोच हमें सोचने पर मजबूर कर देता है कि हम कैसे किसी वस्तु को हासिल कर सकते हैं।

जब कोई व्यक्ति अपने दिमाग में यह सोच लेता है कि वह किसी वस्तु को नहीं खरीद सकता तो उसका दिमाग भी काम करना बंद कर देता है। परंतु जब कोई व्यक्ति अपने दिमाग से प्रश्न करता है तो उसका दिमाग काम करना शुरू करता है। दिमाग प्रश्नों के उत्तर ढूंढने लगता है।

इसका मतलब यह है कि दिमाग को नकारात्मक चीजों से दूर रखो और दिमाग को उसका काम करने दो इससे दिमाग Active रहेगा और धीरे-धीरे Strong हो जाएगा। Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

2. जोखिम-

रॉबर्ट के पहले पिता का मानना था कि आपको जोखिम नहीं उठाना चाहिए। आप अच्छे से पढ़ाई करो अच्छे Marks लेकर आओ तथा Safe और सिक्योर Job करो। वहीं दूसरी तरफ रॉबर्ट के दूसरे पिता सिखाते थे कि जोखिम को कैसे Manage किया जा सकता हैं। पढ़ाई करो और अपने पैसे को काम पर लगाओ।

3. संपत्ति और दायित्व में अंतर का पता होना-

हमें अपनी संपत्ति और अपने दायित्व का पूरा ज्ञान होना चाहिए। संपत्ति से धन में वृद्धि होती है। दायित्व से धन या पैसों में कमी आती है।

यदि आप अमीर बनना चाहते हैं तो आप संपत्ति खरीदें (जमीन,बॉन्ड, शेयर इन्वेस्टमेंट) और यदि आप गरीब ही रहना चाहते हैं तो आप दायित्व (लोन पर लिया गया फर्नीचर,गाड़ी, लग्जरी प्रोडक्ट्स) खरीदें। अब आप दायित्व को देखकर Confuse मत होना आप फर्नीचर या गाड़ी खरीदते हैं तो उससे आपको किसी भी तरह का Income नहीं होगी।

4. सबसे पहले खुद को पेमेंट करना-

रॉबर्ट के दूसरे पिता ने रोबोट को यह बात समझाई की सबसे पहले आप अपनी कमाई का एक हिस्सा अपने लिए रखें। और उन पैसों से अपने लिए ऐसी संपत्ति खरीदें जो आपको आय प्रदान करें।

5. गलतियों से सीख लेना-

रॉबर्ट के दोनों पिता ने उन्हें यह बात सिखाई थी कि यदि आप एक बार गलती करते हैं तो उस गलती की पुनरावृति दुबारा नहीं करें। बल्कि उससे सीख ले और अपनी life में आगे बढ़े।

6. पैसे के लिए काम –

रॉबर्ट के अमीर पिता का मानना था की हमें पैसों के लिए काम नहीं करना चाहिए। मतलब पैसो के पीछे नहीं भागना चाहिए बल्कि पैसों को हमारे लिए काम करवाना चाहिए। वहीं पर रॉबर्ट की दूसरे पिता रॉबर्ट को पैसे कमाने के लिए दबाव डालते थे।

7. मौके की पहचान करना-

सभी को सही मौके की पहचान करना आना चाहिए यदि आप सही मौके को नहीं पहचान पा रहे हैं तो आप कभी भी अमीर नहीं बन सकते हैं।

उदाहरण: एक आदमी एक सड़क से गुजर रहा था वहां पर कुछ घर के सामने बोर्ड लगा हुआ था जिस पर लिखा था “House For Sale” उस समय मंदी का दौर चल रहा था। पर वह आदमी बिना घबराए हुए इस मौके को अपने हाथ से नहीं जाने देता है, और एक अच्छा खासा घर बहुत ही कम कीमत में खरीद लेता है। कुछ दिनों के बाद मंदी का दौर खत्म हुआ अब उस घर को दुगनी कीमत पर बेचता है। Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

8. पैसे को सहेजने की समझ का होना –

वैसे तो सभी लोग पैसे को सहेज कर रखते हैं पर यहां पर सहेजने का अर्थ अपने अलमारी या गुल्लक में अपने पैसों को रखने से नहीं है। यहां पर सहेजने का अर्थ है अपने पैसे को ऐसी जगह invest करना जिससे कि आय होती रहे। साथ ही साथ यह भी ध्यान रखना कि पैसे को ऐसी जगह खर्च ना किया जाए जिससे किसी भी तरह का income ना हो।

इस बात से फर्क नहीं पड़ता है कि आप कितना पैसा कमा रहे हैं बल्कि इस बात से फर्क पड़ता है कि आप उन पैसों को कहा और कैसे खर्च करते हैं।

इस किताब के 6 chapter हैं जो किताब के 6 मुख्य सिद्धांतों पर आधारित हैं।

Chapters इस प्रकार हैं:

1 ) The Rich Don’t Work for Money
(अमीर लोग पैसे के लिए काम नहीं करते )

2) Why Teach Financial Literacy?
(लोगों को पैसे की शिक्षा क्यों दी जानी चाहिए)

3) Mind Your Own Business
(अपना business करें )

4) The History of Taxes and The Power of Corporations
(टैक्स और कॉर्पोरेशंस का इतिहास )

5) The Rich Invent Money
(अमीर लोग पैसे का आविष्कार करते हैं )

6) Work to Learn—Don’t Work for Money
(सीखने के लिए काम करें, पैसे के लिए नहीं )

आइये एक -एक करके हर Chapter के बारे में संक्षेप में जान लेते हैं।

The Rich Don’t Work for Money (अमीर लोग पैसे के लिए काम नहीं करते )

जब रोबर्ट 9 साल के थे तब उन्होंने अपने दोस्त Mike के पिता (जिन्हें वह अपना रिच डैड मानते है) से पूछा कि Rich कैसे बना जाता है। रिच डैड ने कुछ बताने के बदले, उन दोनों लड़कों को अपने Stores की सफाई पर लगा दिया। और हफ्ते के सिर्फ 20 रुपये देते थे।

कुछ ही हफ़्तों में रोबर्ट निराश हो गए और छोड़ कर जाने लगे। क्युँकि इतनी मेहनत करनी पड़ रही थी वो भी इतने कम पैसों में। तभी उनके रिच डैड ने उन्हें पहला सबक दिया – अमीर लोग पैसे के लिए काम नहीं करते।

वो चाहते थे कि रोबर्ट Job की असलियत जान ले और खुद अपना Source Of Income ढूँढे। ज्यादातर Jobs ऐसी ही होती हैं। 9 -5 काम करो और थोड़ी सी सैलरी ले लो।

Rich Dad Poor Dad Book in Hindi
Rich Dad Poor Dad Book in Hindi Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

इस से रोबर्ट को Inspiration मिला। उसे यह भी पता चला कि जॉब कितना कम pay करती है। और कितना उबाऊ काम करना पड़ता है। उसके दिमाग में Business का आईडिया आया।

उसने Store की सफाई करते हुए देखा था कि वहाँ Mike की बहुत सारी पुरानी Comics बेकार पड़ी हुई थीं उसने Mike के साथ मिलकर उन्हें Rent पर देने का प्लान बनाया। इस काम को Manage करने के लिए Mike की बहन को जॉब पर रख लिया गया। उनका Business अच्छा चल निकला।

इस तरह Robert ने 9 साल की उम्र में पहली कम्पनी स्टार्ट कर ली। उसे पैसे भी मिल रहे थे। और ज्यादा काम भी नहीं करना पड़ रहा था। अब उसे पैसों के लिए जॉब करने की जरुरत भी नहीं थी ।

Why Teach Financial Literacy? (लोगों को पैसे की शिक्षा क्यों दी जानी चाहिए)

दोस्तो हमें कभी भी स्कूल या कॉलेज में Financial ज्ञान नहीं दिया जाता। हमें सिर्फ रट्टा मारना सिखाया जाता है। और अच्छे नंबर लाने के लिए बोला जाता है। जिस से हम अच्छी नौकरी पा सकें। लेकिन कोई भी नौकरी हमें अमीर नहीं बना सकती।

बहुत सारे लोग डॉक्टर और Engineer बनना चाहते हैं। लेकिन वो 9 -5 वाली Rat Race (चूहा दौड़) में फँस जाते हैं। 2 लाख हर महीने कमा कर भी वो अमीर नहीं बन पाते। बस Upper Middle Class बोले जा सकते हैं। ऊपर से सारा समय नौकरी के लिए देना पड़ता है। जबकि अमीर हमेशा Free होते हैं। कभी भी बैग उठा कर विदेश यात्रा के लिए निकल सकते हैं।

इस Rat Race (चूहा दौड़) से निकलने के लिए जो Main Point लेखक ने इस Chapter में बताइ है, वो है Asset and Liabilities की समझ।

Rich Dad Poor Dad Book in Hindi
Rich Dad Poor Dad Book in Hindi Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

जिन्हे ये समझ आ जाती है, वो एक दिन अमीर बन ही जाते हैं। इसे समझ गए तो आप बड़े बड़े MBA करने वालों से भी आगे बढ़ जायेंगे। आइये आसान शब्दों में समझते हैं – Asset and Liabilities होते क्या हैं।

  • Asset: जो भी चीज आपकी जेब मैं पैसा डालती है वो Asset है।
  • Liability : जो भी चीज आपकी जेब से पैसा निकालती है वो Liability है।

Example 1

अगर आपने एक कार Loan पर ली है तो वो आपकी सिर्फ Liability है। क्यूंकि वो आपकी जेब से पैसा निकाल रही है। पेट्रोल के लिए भी आपकी जेब से पैसा जा रहा है।

उसी कार को आप Asset भी बना सकते हैं। अगर आप उसे Ola/Uber से लिंक कर देते हैं और ड्राइवर रख लेते हैं। तो वही कार आपकी जेब में पैसा डालने लगेगी।

Example 2

अगर आप 50 लाख का घर लोन पर लेते हैं तो वो आपकी Liability है। क्युँकि आप उसे लोन पर लेते हैं। 25 साल तक किश्त भरते हैं वो भी ब्याज के साथ। इसके विपरीत अगर आप उस 50 लाख को FD और PPF में रखते हैं। तो वही पैसा 10 -15 साल में दुगना हो जायेगा।

फिर आप जो घर लेंगे वो एक तरह से Free में होगा। फिर उस घर का कोई खाली कमरा आप किराये पर दे सकते हैं या Airbnb से लिंक कर सकते हैं। इस तरह से वो आपका Asset हो जायेगा।

तो देखा दोस्तो ये सब स्कूल और कॉलेज में नहीं पढ़ाया जाता। MBA वालों को भी ये सब नहीं पता होता। इसलिए वे भी नौकरी ही कर रहे होते हैं।

आइये अब देखते हैं Asset कितनी तरह के होते हैं।

लेखक ने निम्न 6 तरह के Asset बताये हैं।

  1. Stocks – इसमें Shares और Mutual Funds आते हैं
  2. Bonds – ये आप बैंक से ले सकते हैं। जैसे गोल्ड आदि पर बांड मिल जाते हैं
  3. Real Estate -जमीन का प्लाट या किराये पर घर देना
  4. Notes – जैसे किसान विकास पत्र या डाकघर की योजनाएं
  5. Royalties from Intellectual Property Such as Music, Novels, and Patents – आप यदि कोई भी आर्टिस्टिक प्रोडक्ट बनाते हैं तो उस पर सारी उम्र रॉयल्टी मिलती है।
  6. Business -ऐसा Business जो आपके बिना भी चलता रहता है। जैसे Websites, Blogs, E-Commerce

बहुत से लोग पहली ही सैलरी में कार लेने के लिए भागते हैं। ये अमीर बनने के लक्षण नहीं हैं। बनावटी अमीर तो आपको आस-पास बहुत नजर आ जायेंगे। बड़े-बड़े घर होंगे। लेकिन लोन की किश्ते भर रहे होंगे। या बैंक बैलेंस कुछ भी नहीं होगा (Rich Dad Poor Dad Book in Hindi)

Mind Your Own Business (अपना business लगाएँ )

अगर अमीर बनना है तो अपना business लगाएँ। जॉब करके आप कभी अमीर नहीं बन सकते।

Example 1

एक व्यक्ति ने 32 तरह की चाय का Business स्टार्ट किया। और हर सिटी में Branches खोल लीं। उसके कैफेटेरियों में लोग काम करते हैं। और उसे कुछ खास करने की जरुरत नहीं पड़ती। उसकी Income करोड़ों में है। क्या एक डॉक्टर या Engineer इतनी मेहनत के बावजूद इतना कमा सकता है !

Example 2

Berger King केवल बर्गर बेचता है जिसे कोई भी बना सकता है। इन examples से पता चलता है कि जरुरी नहीं हम बड़े – बड़े Complex Business जैसे स्टील, Medicines , Textiles आदि ही करें। जिनके लिए बहुत दिमाग और पैसे की जरुरत है। आप छोटा प्रोडक्ट भी बेच सकते हैं जो आसान हो। असंख्य Business हो सकते हैं। आप वो चुने जिसमें आपका Interest हो और कुछ समझ भी।

The History of Taxes and The Power of Corporations (टैक्स और कॉर्पोरेशंस का इतिहास )

दोस्तो, अमीरों के पास टैक्स से बचने का Secret तरीका होता है। वो Corporation या कंपनी बना लेते हैं। सरकार Company को बहुत सी रियायतें देती है। मान लीजिये किसी को कार लेनी है तो वह उसे अपने नाम पर नहीं अपनी कम्पनी के नाम पर लेगा। इस से उसका Tax नहीं लगेगा । घर भी Company के नाम पर लेगा।

वैसे ही विदेश यात्रा पर जाना हो तो उसे कम्पनी के काम की ट्रिप बता कर कम्पनी के Accounts में डाल दिया जाता है। इसी तरह से अमीरों के पास बहुत से तरीके होते हैं। और फसता कौन है – Middle Class वाले। करते रहो मेहनत और भरते रहो टैक्स।

Loan की कहानी भी सबको पता होती है। कम्पनी के नाम पर लोन लेते हैं। और इधर -उधर कर देते हैं।फर्जी कम्पनी भी बना लेते हैं। और जब लोन भरने की बारी आती है तो कम्पनी को Bankrupt घोषित कर देते हैं। क्युँकि यही कानून का Loophole है। अगर आपकी कम्पनी Bankrupt हो जाती है तो इसमें आपकी कोई गलती नहीं मानी जाती।

लेकिन मिडिल क्लास का कोई व्यक्ति जब हाउस लोन लेता है तो एक -एक पाई चुकानी पड़ती है । अगर नहीं चुकाएंगे तो सजा दी जाती है। Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

The Rich Invent Money (अमीर लोग पैसे का आविष्कार करते हैं )

इस chapter में लेखक ने अमीरों के सीक्रेट बताएं हैं कि किस तरह वो पैसे का आविष्कार करते रहते हैं। मतलब पैसे से पैसा बनाते रहते हैं। आइये कुछ Examples देखते हैं :

  1. एक अमीर व्यक्ति ने देखा कि एक बहुत पुरानी बिल्डिंग थी जिसे उसका मालिक बेचना चाहता था। लेकिन बिक नहीं रही थी । क्युँकि उसके आस – पास बहुत कचरा था। बिल्डिंग का प्लास्टर भी उतर रहा था। उस अमीर व्यक्ति ने वो बिल्डिंग बहुत ही सस्ते दाम पर खरीद ली। उसके बाद उसका Renovation किया, आस -पास का कूड़ा साफ़ करवाया, वहां Garden लगवाया। और फिर उसी बिल्डिंग को 5 गुना ज्यादा दाम पर बेच दिया।
  2. एक फिल्म स्टार जब अमीर बन गया तो उसने और पैसा कमाना चाहा। लेकिन उसे Business करना नहीं आता था। उसने Consultancy के लोगों को Hire किया और पूरे देश में Gym स्टार्ट करवा दिए। इस से वो और भी Rich होता गया।

तो देखा दोस्तो, अमीर कैसे और अमीर बनते रहते हैं। और मिडिल क्लास कैसे सारी जिंदगी नौकरी में खपता रहता है। और ये सच है कि – पैसे से ही पैसा बनता है। Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

Work to Learn – Don’t Work for Money (सीखने के लिए काम करें, पैसे के लिए नहीं )

लेखक कहते हैं की अगर आपको Business करना है तो पहले किसी के बिज़नेस में जाकर Job करें । वहां से पैसों की उम्मीद न रखें। बल्कि सीखें कि हर चीज कैसे की जाती है। बिज़नेस/ कंपनी चलाने के लिए आपको 3 चीजें आनी चाहियें :

  1. The Cash Flow Management इसमें पैसे का हिसाब-किताब होता है। Investment कहाँ से लाएँ, सैलरी कैसे देते हैं इत्यादि।
  2. Management of Systems इसमें अलग -अलग डिपार्टमेंट को मैनेज करना सीखना होता है। जैसे Production, Finance, Marketing इत्यादि।
  3. People Management इसका मतलब है Employees से कैसे डील किया जाता है। जैसे कोई भी Company Owner हर स्टाफ से Directly बात नहीं करता है। इसके लिए हर लेवल पर Employees होते हैं। जैसे Director, Project Manager , Supervisor इत्यादि।

आपको जान कर हैरानी होगी कि हर MBA को ये चीजें सिखाई जाती हैं। लेकिन 95 % दूसरों के लिए नौकरी कर रहे होते हैं। क्युँकि उन्हें थ्योरी पता होती है। प्रैक्टिकल नॉलेज नहीं। इसलिए Author कहते हैं कि इस सब का प्रैक्टिकल नॉलेज लेने के लिए आप कहीं पर काम सीखिए। इससे आपकी प्रैक्टिकल समझ बढ़ेगी।

दोस्तों मैं आप को यह सलाह दूंगा कि आप यह किताब एक बार जरूर पढ़ें चाहे तो आप इसे अमेजॉन से हार्ड कॉपी ऑनलाइन मंगवा सकते हैं या अमेजॉन के किंडल प्लेटफार्म पर भी आप इसको पढ़ सकते हैं Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

FAQ’ Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • क्या रिच डैड पुअर डैड पढ़ने लायक है?

    यदि आप पैसे में रुचि रखते हैं और आपको इसके साथ क्या करना चाहिए और क्या नहीं, तो यह पढ़ने लायक किताब भी है। हालांकि सावधान रहें। रिच डैड पुअर डैड अच्छी तरह से लिखी गई किताब नहीं है। वास्तव में यह बहुत दोहराव वाला है और प्रस्ताव पर आधे से भी कम पृष्ठों को पढ़ने के बाद अधिकांश लोगों के पास मूल अवधारणाएं होंगी। Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • क्या रिच डैड पुअर डैड अच्छी सलाह है?

    आलोचना। रॉबर्ट कियोसाकी के आलोचक जॉन टी. रीड कहते हैं, “रिच डैड, पुअर डैड में बहुत गलत सलाह, बहुत बुरी सलाह और वस्तुतः कोई अच्छी सलाह नहीं है।” वह यह भी कहते हैं, “रिच डैड, पुअर डैड सबसे कमजोर वित्तीय सलाह पुस्तकों में से एक है जिसे मैंने कभी पढ़ा है।
    Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • रिच डैड पुअर डैड की कहानी क्या है?

    रिच डैड पुअर डैड रॉबर्ट कियोसाकी और उनके दो पिता-उनके असली पिता (गरीब पिता) और उनके सबसे अच्छे दोस्त (अमीर पिता) के पिता के बारे में हैं- और जिस तरह से दोनों पुरुषों ने पैसे और निवेश के बारे में अपने विचारों को आकार दिया।
    Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • रिच डैड पुअर डैड के छह पाठ कौन से हैं?

    Rich Dad Poor Dad Lessons
    Lesson 1: The Rich Don’t Work for Money.
    Lesson 2: Why Teach Financial Literacy?
    Lesson 3: Mind Your Own Business.
    Lesson 4: The History of Taxes and The Power of Corporations.
    Lesson 5: The Rich Invent Money.
    Lesson 6: Work to Learn—Don’t Work for Money.
    Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • रिच डैड, पुअर डैड वर्थ क्या है?

    वह ‘रिच डैड पुअर डैड’ नामक पुस्तकों की श्रृंखला के लिए बहुत लोकप्रिय हैं। 2021 तक, रॉबर्ट कियोसाकी की कुल संपत्ति लगभग $ 100 मिलियन है।
    Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • रिच डैड, पुअर डैड आपकी पसंदीदा किताब क्यों है?

    रॉबर्ट कियोसाकी की मेरी पसंदीदा किताब “रिच डैड, पुअर डैड” है। इसने मेरे दिमाग को निष्क्रिय आय अर्जित करने की संभावना के बारे में खोल दिया है, इसे प्राप्त करने के लिए अलग तरह से सोचने की मानसिकता को बदल दिया है और इसने मुझे लोगों को इसके बारे में सिखाने के लिए भी प्रेरित किया है ताकि मैं उन्हें आर्थिक रूप से मुक्त होने में मदद कर सकूं।
    Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • मैं अमीर कैसे बन सकता हूँ?

    धन का निर्माण करने के लिए आपको कुछ बुनियादी बातों की आवश्यकता होती है:
    पैसे की मानसिकता ही सब कुछ है। …
    करोड़पति अभी भी बजट। …
    धन प्रबंधन महत्वपूर्ण है। …
    विकास के लिए अपना पैसा निवेश करें। …
    अपने व्यक्तिगत वित्तीय लक्ष्यों के आसपास अपना व्यवसाय बनाएं। …
    कई आय धाराएँ बनाएँ। …
    चेक आउट न करें।
    Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • कियोसाकी के पास कौन सी संपत्ति है?

    कियोसाकी रिच ग्लोबल एलएलसी और रिच डैड कंपनी के संस्थापक हैं, जो एक निजी वित्तीय शिक्षा कंपनी है जो किताबों और वीडियो के माध्यम से लोगों को व्यक्तिगत वित्त और व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करती है।
    Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

  • Rich Dad Poor Dad Book in Hindi

यह भी पढ़ें:

दोस्तों अगर आपको आज का हमारा यह article ”Rich Dad Poor Dad Book in Hindi” अच्छा लगा तो आप इस article (Rich Dad Poor Dad Book in Hindi) को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

और अगर आपको कुछ भी पूछना है तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछे।

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल सेधन्यवाद, Wish You All The Very Best.

लेटेस्ट न्यूज अपडेट,  गैजेट्स रिव्यु, और एक्सक्लूसिव कंटेंट के लिए आप हमको Google NewsYouTubeFacebookInstagram और Twitter पर फॉलो करें।

Previous articleTecno Camon 18 Premier Review in Hindi _ 120Hz FHD+AMOLED Display _ Stabilized Gimbal Camera _ Best Camera Phone
Next articleTecno Spark 8P in Hindi _ 50MP कैमरा और 5,000mAh बैटरी _ Best Camear Phone
Mohd Aatif is the Author & Co-Founder of the aatifblog.com. He has also completed his graduation in Computer Engineering from Kanpur(UP) . He is passionate about Blogging & Digital Marketing.

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here